महाराष्ट्र से सावधान: पड़ोसी राज्य ने देखादेखी लगाया कर्फ्यू, यहां धारा 144 लागू

महाराष्ट्र से फ़ैल रहे संक्रमण के मद्देनजर पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश भी अलर्ट पर हो गया और सीमा से सटे जिले में कर्फ्यू का एलान कर दिया है।

Published by Shivani Awasthi Published: February 23, 2021 | 11:05 pm
India Coronavirus Alert Night Curfew in balaghat madhya pradesh maharashtra Border District

Photo Social media

भोपाल: कोरोना वायरस के दोबारा तेजी से हो रहे प्रसार को लेकर कई राज्यों ने अलर्ट जारी कर दिया है। केरल और महाराष्ट्र की स्थिति सबसे खराब है। मात्र केरल से प्रतिदिन देश के कुछ संक्रमण मामलों में से 39 फीसदी केस आ रहे हैं, वहीं महाराष्ट्र में ये आकंड़ा 38 प्रतिशत हैं। महाराष्ट्र में तो कई जिलों में नाइट कर्फ्यू और कुछ प्रतिबंध लगाए गए। वहीं महाराष्ट्र से फ़ैल रहे संक्रमण के मद्देनजर पड़ोसी राज्य एमपी भी अलर्ट पर हो गया और सीमा से सटे जिले में कर्फ्यू का एलान कर दिया।

महाराष्ट्र के पांच जिलों में आंशिक प्रतिबंध

दरअसल, कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने एहतियातन राज्य के पांच जिलों में रविवार को आंशिक प्रतिबंध लगाए गए। जिनमें अमरावती, अकोला, बुलढाणा, वाशिम और यवतमाल शामिल है। इन सभी जिलों में 7 दिनों का आंशिक लॉकडाउन पालन किया जाएगा। लेकिन जरूरी सेवाओं पर ये लागू नहीं किया जाएगा।

ये भी पढ़ेँ- कोरोना वायरस: फिर बढ़ने लगा संक्रमण, सरकार ने जनता को चेताया

महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश की बार्डर वाले जिले बालाघाट में नाइट कर्फ्यू

वहीं महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश की सीमा से लगते जिले बालाघाट में भी नाइट कर्फ्यू का ऐलान कर दिया गया है। मध्य प्रदेश बालाघाट जिला कलेक्ट्रेट ने इस बाबत सरकार को पत्र लिख कर कर्फ्यू लगाने को लेकर सलाह दी थीं। जिसके बाद कोविड को लेकर प्रतिबंध का फैसला लिया गया। बालाघाट जिले में कोविड कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा। वहीं जिला मजिस्ट्रेट ने कोरोना से बचाव को लेकर धारा 144 भी लागू की है।

corona new strain in maharshtra-2

बालाघाट में धारा 144  लागू, आदेश का पालन न होने पर कार्रवाई

बालाघाट के जिलाधिकारी दीपक आर्य ने आज आदेश जारी कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते यह फैसला लिया गया है। इस दौरान लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और मास्क पहनने के लिए कहा गया है। कोरोना गाइडलाइन के तहत सार्वजनिक कार्यक्रम आदि के लिए प्रशासन से मंजूरी लेना अनिवार्य होगा। वहीं आदेश का पालन न किये जाने पर कार्रवाई की भी चेतावनी दी गयी।

ये भी पढ़ेँ- बेहोश होकर गिरे लोग: गैस लीक से रायबरेली में आफत, मच गया हड़कंप

बता दें कि पूरे देश में से कोरोना के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में आ रहे हैं। सिर्फ इस हफ्ते ही मामलों में 81 फीसदी की वृद्धि देखी गई। वहीं, भारत में बीते हफ्ते तक औसतन (7 दिन के लिए) कोरोना मामलों की संख्या 11,430 थी जो इस हफ्ते के आंकड़ों के बाद बढ़कर 12,770 हो गया।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App