×

भारत का नया मानचित्र नेपाल को नहीं आया पसंद, इसके पीछे है ये वजह?

दो नए केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के गठन के बाद भारत ने  नया मैप( मानचित्र) तैयार किया है। सरकार द्वारा जारी किए देश के नए राजनीतिक मैप को लेकर पाकिस्तान की नाराजगी जगजाहिर है। अब  इस पर  नेपाल ने विरोध जताया है

suman
Published on: 7 Nov 2019 3:57 AM GMT
भारत का नया मानचित्र नेपाल को नहीं आया पसंद, इसके पीछे है ये वजह?
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

जयपुर: दो नए केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के गठन के बाद भारत ने नया मैप( मानचित्र) तैयार किया है। सरकार द्वारा जारी किए देश के नए राजनीतिक मैप को लेकर पाकिस्तान की नाराजगी जगजाहिर है। अब इस पर नेपाल ने विरोध जताया है।नेपाल सरकार का कहना है कि भारत नया मैप सही नही है।

यह भी पढ़ें...पीएम मोदी राइजिंग हिमाचल का आज करेंगे उद्घाटन, होगा करोड़ों का निवेश

ये है वजह

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में कालापानी जिसे मैप में भारत ने शामिल किया है। इसको लेकर नेपाल को आपत्ति है। नेपाल कालापानी को दारचूला जिले के हिस्से के तौर पर दिखाता है। नेपाल की तरफ से जारी हुए आधिकारिक बयान में भारत के नए नक्शे में कालापानी को शामिल किया जाना सही नहीं है। इस बयान के जवाब में अभी तक को प्रतिक्रिया भारत के तरफ से नहीं आई है।

यह भी पढ़ें..वेस्टइंडीज ने अफगानिस्तान को 7 विकेट से हराया, देखें तस्वीरें

सीमा विवाद

नई दिल्ली और काठमांडू के बीच सीमा विवाद को लेकर पहले से वार्ता चल रही है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, नेपाल सरकार पूरी तरह से स्पष्ट है कि कालापानी नेपाल का हिस्सा है। सरकार देश की बाहरी सीमा की सुरक्षा के लिए कटिबद्ध है और सैद्धांतिक पक्ष पर भी कायम है कि पड़ोसी देशों के साथ सीमा विवाद दस्तावेजों के मूल्यांकन, तथ्यों और सबूतों के आधार पर कूटनीतिक माध्यमों से किया जाए।भारत-नेपाल के बीच मजबूत संबंध रहे हैं लेकिन सीमा जैसे संवेदनशील मुद्दों को लेकर दोनों देशों को सतर्क रहना होगा।

suman

suman

Next Story