‘रुद्रम’ उड़ाएगा चीन को: आ गया भारत का ये लड़ाकू विमान, हुआ सफल परीक्षण

भारत में बनाई गई ये अपने आप में पहली मिसाइल है, जो किसी भी ऊंचाई से दागी जा सकती है। ये मिसाइल किसी भी तरह के सिग्नल और रेडिएशन को पकड़ सकती है। साथ ही अपनी रडार में लाकर ये मिसाइल नष्ट कर सकती है।

anti-radiation missile 'Rudram'

'रुद्रम' उड़ाएगा चीन को: आ गया भारत का ये लड़ाकू विमान, हुआ सफल परीक्षण-(courtesy- social media)

नई दिल्ली: भारत-चीन सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत ने आज पूर्वी तट से सुखोई-30 लड़ाकू विमान से एंटी-रेडिएशन मिसाइल रुद्रम का सफल परीक्षण किया। इस मिसाइल को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा विकसित किया गया है। इस मिसाइल की खासियत है कि इसको किसी भी ऊंचाई से दागा जा सकता है।

DRDO ने एक फिर रचा इतिहास

बता दें कि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने एंटी-रेडिएशन मिसाइल रुद्रम का सफल परीक्षण कर एक बार फिर इतिहास रचा है। भारत ने शुक्रवार को एंटी रेडिएशन मिसाइल रुद्रम का सफल परीक्षण किया। इस मिसाइल को DRDO द्वारा बनाया गया है। इसका परीक्षण सुखोई-30 फाइटर एयरक्राफ्ट से किया गया है।

anti-radiation missile 'Rudram'-2

ये भी देखें:  विमानों से कांपा चीन-पाक: अब शुरू हो गया युद्ध, वायुसेना की गर्जना से गूंजा असमान

किसी भी ऊंचाई से दागी जा सकती है मिसाइल

भारत में बनाई गई ये अपने आप में पहली मिसाइल है, जो किसी भी ऊंचाई से दागी जा सकती है। ये मिसाइल किसी भी तरह के सिग्नल और रेडिएशन को पकड़ सकती है। साथ ही अपनी रडार में लाकर ये मिसाइल नष्ट कर सकती है। अभी ये मिसाइल डेवलेपमेंट ट्रायल में जारी है। लेकिन इन ट्रायल के पूरा होने के बाद जल्द ही इन्हें सुखोई और स्वदेशी विमान तेजस में भी इस्तेमाल किया जा सकेगा।

ये भी देखें:  खत्म हो रहा हिमालय: तेजी से पिघल रही चोटी की बर्फ, वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ी

सुपरसोनिक मिसाइल का परीक्षण किया था

आपको बता दें कि इसी हफ्ते की शुरुआत में DRDO ने सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड रिलीज़ ऑफ टॉरपीडो (SMART) का सफल परीक्षण किया था। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन यानी DRDO ने इसका ओडिशा के तटीय इलाके में इसका परीक्षण किया था।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App