CAA के समर्थन में 10 दिन तक चलाया जाएगा ‘इंडिया सपोर्ट्स सीएए’ अभियान

देश के बहुत से राज्य में CAA व NRC को लेकर प्रोटेस्ट चल रहा है। आज के टाइम में बहुत ही बड़ा मुद्दा बन चुका है, जिसे लेकर जनता काफी आक्रोश में है।

Published by Roshni Khan Published: December 31, 2019 | 10:20 am
Modified: December 31, 2019 | 11:07 am

नई दिल्ली: देश के बहुत से राज्य में CAA व NRC को लेकर प्रोटेस्ट चल रहा है। आज के टाइम में बहुत ही बड़ा मुद्दा बन चुका है, जिसे लेकर जनता काफी आक्रोश में है। अब इन्ही सबके बीच संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के पक्ष में व्यापक समर्थन जुटाने के मकसद से भाजपा नेताओं ने सोमवार को सोशल मीडिया पर इसके समर्थन में अभियान चलाया। देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने इस कानून के सपोर्ट में इस अभियान के अंदर सोमवार को आध्यात्मिक गुरु सदगुरु जग्गी वासुदेव का एक वीडियो पोस्ट किया।

पीएम मोदी ने किया ट्वीट

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ”सीएए से जुड़े पहलुओं की स्पष्ट व्याख्या तथा और भी चीजें सदगुरू से सुनिए। उन्होंने ऐतिहासिक संदर्भ का हवाला दिया है और हमारी भाईचारे की संस्कृति का बेहतरीन तथा शानदार तरीके से उल्लेख किया है। इसके साथ ही उन्होंने निहित स्वार्थ वाले कुछ समूहों की गलत सूचनाओं को बेनकाब किया है।”

ये भी पढ़ें:IAS अफसरों की बल्ले-बल्ले, नए साल में मिला ये बढ़ा तोहफा…

पीएम की निजी वेबसाइट के ट्विटर हैंडल पर भी एक संदेश पोस्ट किया गया है जिसमें कहा गया है कि CAA उत्पीड़न का शिकार हुए शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए है और इसमें किसी की नागरिकता लेने की बात नहीं की गई है। यह संदेश ‘इंडिया सपोर्ट्स सीएए’ (Indian Supports CAA) नामक हैशटैग से पोस्ट किया गया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट किया, ”तथ्यों का प्रसार करिए, झूठ का नहीं। पिछले छह वर्षों में 2830 पाकिस्तानी, 912 अफगान और 172 बांग्लादेशी नागरिकों को भारतीय नागरिकता दी गई। इनमें से कई उन देशों के बहुसंख्यक समुदाय से हैं।”

ये भी पढ़ें:राजस्थान: जैसलमेर-जोधपुर हाइवे पर बस और कार में टक्कर, 2 लोगों की मौत, 4 घायल

केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कई ट्वीट करके CAA के विभिन्न पहलुओं का उल्लेख किया और प्रधानमंत्री के उस कथन को उद्धृत किया कि इसका किसी भी भारतीय नागरिक पर विपरीत असर नहीं होगा। इस पर भाजपा नेता जय पांडा ने कहा कि इस कानून का किसी भारतीय नागरिक पर विपरीत असर नहीं होगा। ये CAA जागरूकता का अभियान देशभर में 10 दिन तक चलाया जाएगा।