×

सेना के भयानक हथियार: हिले चीन-पाकिस्तान, देखें Drone Operation की झलकियां

भारतीय सेना(Indian Army) ने देश की बढ़ती ताकत के बारे में बड़ी घोषणा कर दी है। सेना ने भविष्य के हथियार का प्रदर्शन कर ये घोषणा कर दी है कि अब वो 21वीं सदी के युद्ध के लिए तैयार है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 15 Jan 2021 2:08 PM GMT

सेना के भयानक हथियार: हिले चीन-पाकिस्तान, देखें Drone Operation की झलकियां
X
दिल्ली छावनी के सेना परेड ग्राउंड में 75 ड्रोनों (Drone) को एक साथ लॉन्च करते हुए सेना ने ना केवल दुश्मन के महत्वपूर्ण निशानों को तबाह किया।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: आज सेना दिवस के अवसर पर भारतीय सेना(Indian Army) ने देश की बढ़ती ताकत के बारे में बड़ी घोषणा कर दी है। सेना ने भविष्य के हथियार का प्रदर्शन कर ये घोषणा कर दी है कि अब वो 21वीं सदी के युद्ध के लिए तैयार है। ऐसे में दिल्ली छावनी के सेना परेड ग्राउंड में 75 ड्रोनों (Drone) को एक साथ लॉन्च करते हुए सेना ने ना केवल दुश्मन के महत्वपूर्ण निशानों को तबाह किया, बल्कि अपने सैनिकों के लिए जरूरी साजो-सामान भी पहुंचाया। साथ ही बताया है कि ये भविष्य के युद्ध की एक झलक है।

ये भी पढ़ें... सेना ने किया कमाल: पहली बार साथ उड़े 75 ड्रोन्स, दुश्मनों का पल में करेंगे खात्मा

दुश्मन को तबाह करने की क्षमता

भारतीय सेना ने स्वार्म ड्रोन ऑपरेशन(Swarm Drone Operation) अपने सैनिकों को खतरे में डाले बिना दुश्मन को तबाह करने की क्षमता है। भारतीय सेना ने बीते साल अगस्त में इस तकनीक पर काम करना शुरू किया था। इसे बनाने में निजी कंपनियों के अलावा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) एक्सपर्ट्स की भी मदद ली गई।

ऐसे में बताते चलें कि भारतीय सेना इस समय आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI), क्वांटम तकनीक, रोबोटिक्स, क्लाउड कंप्यूटिंग, एल्गोरिदम वेलफेयर जैसी सबसे नई तकनीकों पर सबसे ज्यादा खर्च कर रही है। तब इस तरह की नई तकनीकों के लिए सेना ने बड़ी तादाद में स्टार्ट अप कंपनियों, वैज्ञानिकों, छोटी निजी कंपनियों के अलावा DRDO के साथ बीते साल से ही काम करना शुरू कर दिया था।

bsf फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें...सेना दिवस: PM मोदी, राष्ट्रपति और राजनाथ समेत इन दिग्गजों ने सैनिकों को किया नमन

स्वार्म ड्रोन ऑपरेशन

सेना के इस ऑपरेशन के तहत बहुत बड़ी तादाद में ड्रोन लॉन्च किए जाते हैं और हर ड्रोन का अपना अलग टार्गेट या काम होता है। जिससे अब बड़ी तादाद में ड्रोन को लॉन्च करने से इनको रोक पाना आम तरीकों से संभव नहीं हो पाता है।

देश के दुश्मन के एयर डिफेंस के मोर्चे, टैंकों के ठिकाने, रडार स्टेशन, एयरपोर्ट जैसे महत्वपूर्ण ठिकानों को तबाह किया जा सकता है। इनके जरिए दूर इलाकों में या दुश्मन से घिरे अपने सैनिकों के लिए जरूरी साजो सामान भी पहुंचाया जा सकता है। साथ ही बहुत कम समय में और अपने सैनिकों को खतरे में डाले बगैर दुश्मनों का खात्मा करने के लिए सक्षम है।

ये भी पढ़ें...तेजस की एयर स्ट्राइक! पाकिस्तान पर हमला करने में सक्षम, वायुसेना प्रमुख का दावा

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story