बड़ी खबर: हजारों सैनिकों की छटनी कर सकती है इंडियन आर्मी

इंडियन आर्मी अब संगठन के स्तर पर काम करने वाले सैनिकों की छंटाई कर सकती है। इंडियन आर्मी ने फैसला लिया है कि वो संगठन पर काम कर रही 27,000 हजार सैनिकों की छंटाई कर सकती है।

चीन के सैन्य शक्ति प्रदर्शन के बाद भारत में शुरू युद्ध की तैयारियां

चीन के सैन्य शक्ति प्रदर्शन के बाद भारत में शुरू युद्ध की तैयारियां

इंडियन आर्मी अब संगठन के स्तर पर काम करने वाले सैनिकों की छंटाई कर सकती है। इंडियन आर्मी ने फैसला लिया है कि वो संगठन पर काम कर रही 27,000 हजार सैनिकों की छंटाई कर सकती है। बताया जा रहा है कि इस फैसले से सेना को लगभग 16 सौ करोड़ रुपये की बचत होगा और इससे सेना को आधुनिकीकरण में भी फायदा होगा।

यह भी पढ़ें: AN-32: 13 वायु सैनिकों के शव बरामद, 3 जून को क्रैश हुआ था विमान 

इंडियन आर्मी के इस फैसले से सेना के आधुनिकीकरण में फायदा होगा। बता दें कि सेना के 80 प्रतिशत बजट केवल सैलरी और आयदिन होने वाले खर्चे में जाता है और 20 प्रतिशत हिस्सा ही आधुनिकीकरण में जा पाता है। वहीं आर्मी में करीब साढ़े 12 लाख सैनिक और अधिकारी कार्य प्रभारी हैं और अब सेना को और अधिक मजबूत बनाने के लिए इस संख्या में कटौती होगी। ऐसा करने से सेना के आधुनिकीकरण में बजट का और अधिक हिस्सा जा सकेगा।

सेना संगठन स्तर जैसे नेशनल कैडेट कोर्प्स, बोर्डर रोड्स, मिलीट्री इंजीन्यर सर्विस, टेटोरियल आर्मी, राष्ट्रीय राइफल्स, स्ट्रैटेजिक फोर्सेस में लगभग 1 लाख 75 हजार सैनिक कार्यरत हैं। सेना इन्हीं सैनिकों की छंटाई पर विचार कर रही है। इस प्रस्ताव को मंजूरी के लिए रक्षामंत्रालय में भेजा गया है। एक रिपोर्ट के अनुसार सेना 6 से 7 सालों के अंदर करीब डेढ़ लाख सैनिकों की छंटाई की योजना बना रही है।

यह भी पढ़ें: ये है भगोड़ा इंडियन आर्मी का जवान, कर चुका है ऐसा कारनामा

बताया जा रहा है कि इस पुनर्गठन को सरकार की तरफ से जल्द ही मंजूरी मिल सकती है और सरकार इसके लिए जीएसएल यानी गवर्नमेंट सेक्शन लेटर को जल्द ही लागू कर सकती है। वहीं सेना डिप्टी चीफ का नया पद भी बना सकती है।