×

मासूम कोरोना की गिरफ्त में: मां-बाप खुद बने बच्ची की हालत के जिम्मेदार

कोरोना वायरस के संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा बूढ़ों और 10 साल के नीचे के बच्चों के लिए बताया गया है। इसलिए जन-जन की रक्षा के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है, और बढ़ते केसों की वजह से इसे आगे भी बढ़ाने की  कवायद चल रही है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 12 April 2020 1:24 PM GMT

मासूम कोरोना की गिरफ्त में: मां-बाप खुद बने बच्ची की हालत के जिम्मेदार
X
मासूम कोरोना की गिरफ्त में: मां-बाप खुद बने बच्ची की हालत के जिम्मेदार
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा बूढ़ों और 10 साल के नीचे के बच्चों के लिए बताया गया है। इसलिए जन-जन की रक्षा के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है, और बढ़ते केसों की वजह से इसे आगे भी बढ़ाने की कवायद चल रही है। ऐसे में गुजरात के भावनगर जिले में कोरोना वायरस से एक 4 साल की बच्ची पाई गई है। स्थानीय पुलिस ने संक्रमित पाई गई बच्ची के परिजन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। पुलिस के अनुसार, यह कार्रवाई इसलिए की गई क्योंकि बच्ची के परिजन लॉकडाउन की अवहेलना कर बच्ची को लेकर एक रिश्तेदार के घर चले गए थे। जिससे 4 साल की बच्ची की ये हालत है।

ये भी पढ़ें...जूलियन असांजे के महिला वकील से दो बच्चों का खुलासा, अभी तक नहीं की है शादी

4 साल की नन्ही झेल रही महामारी की मार

बता दें कि घोघा पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि बच्ची का पिता जो कि जमनाकुंड इलाके में कोरोना नियंत्रण क्षेत्र का निवासी है, उसने खुद को सरकारी अधिकारी बताते हुए पुलिस को शुक्रवार को एक पर्ची थमाई और मोटरसाइकिल पर अपनी पत्नी और बच्ची के साथ 18 किलोमीटर दूर घोघा में अपने रिश्तेदार के यहां पहुंच गया।

आगे उन्होंने बताया कि शनिवार को चार साल की बच्ची घोघा में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा की गई जांच में कोरोना वायरस संक्रमित पाई गई। इसके साथ ही बताया कि उसे बाद में भावनगर के एक अस्पताल में पृथक केंद्र में भर्ती कराया गया। उन्होंने कहा कि बच्ची के माता-पिता और उससे संपर्क में आए दो अन्य को यहां के एक अस्पताल में अलग रखा गया है।

माता-पिता की बच्ची को पड़ी भारी

इस मामले में पुलिस ने रविवार को बच्ची के माता-पिता के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 170, धारा 269, धारा 270 और धारा 188 के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। पुलिस ने बताया कि उनके खिलाफ महामारी बीमारी कानून के प्रावधानों के तहत भी मामला दर्ज किया गया है।

अपने बच्चों की भी फिकर नहीं कर रहे ये देश के लोग। इनको महामारी की वजह से चल रहा लॉकडाउन मजाक लग रहा था, लेकिन आज इनकी नन्ही बच्ची खुद इनके मजाक का शिकार हो गई है। ऐसे में आप लोगों का सलाह दी जा रही है कृपया करके अपने घरो से कतई बाहर न निकले और न ही बच्चों को बाहर खेलने दे।

ये भी पढ़ें-एक्शन में CM योगी: जताई अपनी चिंता, कहा कोई दिक्कत न हो किसानों को

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story