Top

INX मीडिया केस: चिदंबरम के साथ काम कर चुके ये 6 अधिकारी आज कोर्ट में होंगे पेश

आज यानि शुक्रवार को INX मीडिया केस में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के साथ काम कर चुके 6 नौकरशाह की विशेष अदालत में पेशी होनी है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 29 Nov 2019 3:45 AM GMT

INX मीडिया केस: चिदंबरम के साथ काम कर चुके ये 6 अधिकारी आज कोर्ट में होंगे पेश
X
चिदंबरम के साथ काम कर चुके ये 6 अधिकारियों को मिली अग्रिम जमानत
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: आज यानि शुक्रवार को INX मीडिया केस में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के साथ काम कर चुके 6 नौकरशाह की विशेष अदालत में पेशी होनी है। CBI की चार्जशीट पर संज्ञान लेते हुए CBI की विशेष अदालत के न्यायाधीश अजय कुमार कुहाड़ ने हाल ही में 6 नौकरशाहों और दूसरे आरोपियों को समन जारी किया था।

ईडी की रिपोर्ट में 14 लोगों को बताया गया आरोपी

दरअसल, इस मामले में CBI की चार्जशीट में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम सहित 14 लोगों को आरोपी बताया गया है। CBI की इस चार्जशीट में जिनको आरोपी ठहराया गया है, उसमें कांग्रेस नेता पी चिदंबरम, कार्ति चिदंबरम, उनके एकाउंटेंट एस भास्करन, आईएनएक्स मीडिया, इसके पूर्व निदेशक पीटर मुखर्जी, CMSPL, ASCPL सहित 6 नौकरशाहों के नाम शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार करेगी पहल तो 60 की जगह मिलेगा प्याज 15.60 रुपए किलो, जानिए कैसे?

इन 6 नौकरशाहों में तत्कालीन एफआईपीबी (FIPB) यूनिट के सेक्शन ऑफिसर अजीत कुमार डुंगडुंग, एफआईपीबी यूनिट के निदेशक प्रबोध सक्सेना, एफआईपीबी यूनिट के अवर सचिव रबिंद्र प्रसाद, आर्थिक मामलों के विभाग के संयुक्त सचिव अनूप के पुजारी, आर्थिक मामलों के विभाग के ओएसडी प्रदीप कुमार बग्गा और आर्थिक मामलों के विभाग के अतिरिक्त सचिव सिंधुश्री खुल्लर के नाम शामिल हैं।

बता दें कि, ईडी ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में INX मीडिया केस में पी चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध किया है। ईडी ने यह दावा किया है कि, वह (पी चिदंबरम) जेल में रहने के बावजूद भी मामले के अहम गवाहों को प्रभावित कर रहे हैं। वहीं अदालत ने सुनवाई के बाद फैसले को सुरक्षित रख लिया है। कोर्ट ने ईडी से अब तक की जांच सील बंद लिफाफे में रिपोर्ट मांगी है।

यह भी पढ़ें: 7000 इंजीनियर व ग्रेजुएट बनना चाहते हैं सफाईकर्मी, भरा आवेदन, जानिए पूरी वजह

Shreya

Shreya

Next Story