Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

INX Scam : जाने क्या है पी चिदंबरम पर चार्ज, जिस वजह से जाएंगे जेल

INX मीडिया मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। जिसके बाद पी चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया गया है। दिल्ली में सीबीआई ने चिदंबरम को उनके जोरबाग स्थित घर से गिरफ्तार किया। आज यानी गुरुवार को सीबीआई उन्हें राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश करेगी।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 22 Aug 2019 4:01 AM GMT

INX Scam : जाने क्या है पी चिदंबरम पर चार्ज, जिस वजह से जाएंगे जेल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: INX मीडिया मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। जिसके बाद पी चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया गया है। दिल्ली में सीबीआई ने चिदंबरम को उनके जोरबाग स्थित घर से गिरफ्तार किया। आज यानी गुरुवार को सीबीआई उन्हें राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश करेगी। चिदंबरम की ओर से गुरुवार को ही जमानत याचिका दायर की जाएगी। आज हम आपको बताते हैं कि आखिर क्या था INX स्कैम जिसने पी चिदंबरम को सलाखों को पीछे पहुंचा दिया।

ये भी देखें:जी-7 समिट: 26 अगस्त को पेरिस में मिलेंगे प्रधानमंत्री मोदी और डोनाल्ड ट्रंप

पूर्व वित्त मंत्री पर INX मीडिया केस में फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रोमोशन बोर्ड (FIPB) से गैरकानूनी तौर पर मंजूरी दिलाने के लिए रिश्वत लेने का आरोप है। इस मामले में अभी तक चिदंबरम को 20 से ज्यादा बार गिरफ्तारी से राहत मिल चुकी है, लेकिन इस बार कोर्ट ने अपने हाथ खड़े कर लिए हैं। ये घटना 2007 का है, जब पी. चिदंबरम यूपीए-2 सरकार में वित्त मंत्री थे। उनके अलावा सीबीआई इस मामले में उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को भी गिरफ्तार कर चुकी है लेकिन वो इस समय जमानत पर हैं।

ये भी देखें:चंद्रशेखर आजाद को लेकर प्रियंका गांधी का बयान, गिरफ्तारी पर जताई नाराजगी

पूर्व वित्त मंत्री के बेटे कार्ति चिदंबरम को INX मीडिया को 2007 में FIPB से मंजूरी दिलाने के लिए उक्त रूप से रिश्वत लेने के आरोप में 28 फरवरी 2018 को गिरफ्तार किया गया था। ईडी ने सीबीआई की एक प्राथमिकी के आधार पर एक पीएमएलए का मामला दर्ज किया। ईडी ने 2007 में विदेश से 305 करोड़ की राशि प्राप्त करने के लिए आईएनएक्स मीडिया को एफआईपीबी मंजूरी देने में कथित तौर पर अव्यवस्था का आरोप लगाया है। ईडी की अब तक की जांच से पता चला है कि FIPB की मंजूरी के लिए INX मीडिया के पीटर और इंद्राणी मुखर्जी ने पी.चिदंबरम से मुलाकात की थी, ताकि उनके आवेदन में किसी तरह की देरी ना हो।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story