गया था बहन को स्कूल छोड़ने, लेकिन हुआ ऐसा कि लौटी सिर्फ लाश

मध्य प्रदेश के जबलपुर में एक ऐसी सड़क दुर्घटना हुई, जिसने सबको सकते में डाल दिया। एक बाइक सवाल 12 साल के बच्चे को कार ने बुरी तरह से रौंद दिया।

Published by Shreya Published: February 24, 2020 | 4:04 pm

जबलपुर: मध्य प्रदेश के जबलपुर में एक ऐसी सड़क दुर्घटना हुई, जिसने सबको सकते में डाल दिया। एक बाइक सवाल 12 साल के बच्चे को कार ने बुरी तरह से रौंद दिया। हादसे में बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई। बता दें कि 12 साल का बच्चा बाइक चला रहा था और दूसरी ओर से महिला कार चालक रफ्तार में आ रही थी, जिसकी कार ने बच्चे को रौंद दिया। बताया जा रहा है कि यह घटना ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने के चलते हुई। कार की स्पीड अधिक बताई जा रही है।

करीब 10 मिनट तक तड़पता रहा बच्चा

ये पूरी घटना जबलपुर के कोतवाली थाना अंतर्गत उखरी रोड पर हुई। एक महिला कार चालक तेज रफ्तार में आ रही थी, तभी दूसरी ओर से आ रही बाइक को उसने जबरदस्त टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जोर थी कि बाइक सवार बच्चा तेजी से उछलकर डिवाइडर पर जा गिरा। उस बच्चे का सिर डिवाइडर से जा टकराया और फट गया। बच्चा घटना के बाद बेहोश हो गया और तकरीबन 10 मिनट तक उसी हालत में सड़क पर पड़ा रहा। फिर कुछ देर बाद बच्चे को इलाज के लिए हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां पर उसकी मृत्यु हो गई।

यह भी पढ़ें: डील में इवांका बन सकती हैं बाधा, यहां जानिए क्या है वजह

12 साल का बच्चा चला रहा था बाइक

महिला कार चालक ने जिस बाइक को टक्कर मारी, उसको 12 साल का बच्चा चला रहा था। बताया जा रहा है कि बच्चा अपनी छोटी बहन को स्कूल छोड़ने के लिए घर से निकला था। जब वो बहन को स्कूल छोड़कर लौट रहा था, उसी वक्त उखरी मोड पर इस भीषण हादसे से उसकी दर्दनाक मौत हो गई। बच्चे का नाम रौनक है। घटना के बाद सिर फटने से बच्चा बेहोश हो गया और 10 मिनट तक अपनी जिंदगी से लड़ाई लड़ने के बाद भी बच्चा नहीं बच पाया।

महिला बच्चे को अस्पताल पहुंचा, हुई फरार

वहीं महिला कार चालक भी हादसे से घबराकर वहीं रूक गई। उसके बाद उसी महिला ने अपनी कार में ले जाकर रौनक को अस्पताल में पहुंचाया, लेकिन तब तक उस बच्चे की मौत हो चुकी थी। महिला भी उसके बाद कहीं चली गई। जिसके बाद पुलिस उस महिला की तलाश कर रही है।

यह भी पढ़ें: CAA विरोध में तड़तड़ाई गोलियां: पुलिस के सामने पत्थरबाजी के बाद फूंक दी गाड़ियां

मानवता को शर्मसार करती है ये घटना

ये हादसा मानवता को भी शर्मसार करती है, क्योंकि जहां पर ये हादसा हुआ, वहां पास में ही अस्पताल भी है। जहां पर बच्चे को वक्त रहते इलाज के लिए ले जाया जा सकता था। लेकिन न तो किसी राहगीर ने ऐसा करने की जरूरत समझी और न ही किसी ने एम्बुलेंस को फोन किया। बच्चा वहीं पर तड़पता रहा, लेकिन सब तमाशबीन बन देखते रहे। दुर्घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मार्ग कायम कर महिला की तलाश शुरु कर दी। फिलहाल सीसीटीवी के जरिए महिला की तलाश की जा रही है।

यह भी पढ़ें: नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम में पीएम मोदी की ललकार, जानें भाषण की खास बातें