जेट एयरवेज के कर्मचारी ने की आत्महत्या, चार मंजिला इमारत से कूदकर दी जान

जेट एयरवेज के एक वरिष्ठ तकनीशियन ने महाराष्ट्र के पालघर में अवसाद की वजह से कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। कर्मचारी कैंसर से पीड़ित था।

जेट एयरवेज के कर्मचारी ने की आत्महत्या, चार मंजिला इमारत से कूदकर दी जान

नई दिल्ली: जेट एयरवेज के एक वरिष्ठ तकनीशियन ने महाराष्ट्र के पालघर में अवसाद की वजह से कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। कर्मचारी कैंसर से पीड़ित था। कहा जा रहा है कि वह कैंसर की बीमारी और आर्थिक तंगी के चलते बेहद तनाव में थे।खुदकुशी करने वाले जेट एयरवेज कर्मचारी की पहचान शैलेश सिंह के रूप में हुई है। 45 साल के शैलेश ने पालघर के नालासोपारा ईस्ट इलाके स्थित 4 मंजिला इमारत से कूदकर आत्महत्या कर ली।

यह भी पढ़ें…..जेट एयरवेज की उड़ानों के रद्द होने पर पुणे की कंपनी सैन्यकर्मियों के पैसे लौटाएगी

जेट एयरवेज स्टाफ एंड एम्पलॉइज एसोसिएशन ने बताया कि सिंह आर्थिक दिक्कतों का सामना कर रहे थे क्योंकि परिचालन बंद करनेवाले जेट एयरवेज ने कई महीनों से अपने कर्मचारियों का वेतन अदा नहीं किया था।

यह भी पढ़ें…..25 साल पुरानी जेट एयरवेज का संचालन ठप

पुलिस अधिकारी ने बताया कि वह कैंसर से पीड़ित हैं और उनकी कीमोथेरेपी चल रही थी। प्राथमिक तौर पर ऐसा प्रतीत होता है कि बीमारी की वजह से वह अवसाद में थे। एसोसिएशन ने दावा किया कि एयरलाइन द्वारा परिचालन बंद करने के बाद कर्मचारी की आत्महत्या का यह पहला मामला है। सिंह के परिवार में पत्नी, दो बेटे और दो बेटियां हैं।

 नहीं मिला कोई सुसाइड नोट

पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि उन्हें अब तक कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।शैलेश सिंह के परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटे और दो बेटियां हैं। उनका एक बेटा जेट एयरवेज के संचालन विभाग में कार्यरत है, जिसे कंपनी में अस्थाई निलंबन के कारण कोई वेतन नहीं मिल रहा था। हालांकि पुलिस ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि वह अभी भी जेट एयरवेज कर्मचारी था।