Top

Jharkhand: कोरोना वैक्सीन की पहले खेप पहुंची रांची, टीकाकरण की राजनीति शुरू

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा है कि, देश में दो कंपनियों की वैक्सीन को अनुमति दी गई है। टीकाकरण को लेकर देशभर में कई प्रकार के सवाल उठ रहे हैं।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 13 Jan 2021 1:20 PM GMT

Jharkhand: कोरोना वैक्सीन की पहले खेप पहुंची रांची, टीकाकरण की राजनीति शुरू
X
Jharkhand: कोरोना वैक्सीन की पहले खेप पहुंची रांची, टीकाकरण की राजनीति शुरू (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रांची: झारखंड में कोरोना वैक्सीन की 1 लाख 66 हज़ार डोज पहुंच चुकी है। 16 जनवरी से राज्य के सभी ज़िलों में टीकाकरण शुरू किया जाएगा। इस बीच झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता का एक बयान चर्चा में है। रांची में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होने कहा कि, देश के सभी लोगों को कोरोना की वैक्सीन मुफ्त दिया जाना चाहिए। बिहार चुनाव के दौरान भाजपा ने मतदाताओं से इसका वादा किया था। लिहाज़ा, इसमें किसी प्रकार की राजनीति नहीं होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें:Varanasi: गांजा पीकर युवतियों पर कस रहे थे फब्तियां, पुलिस ने पहुंचाया जेल

वैक्सीन पर संशय हो दूर

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा है कि, देश में दो कंपनियों की वैक्सीन को अनुमति दी गई है। टीकाकरण को लेकर देशभर में कई प्रकार के सवाल उठ रहे हैं। लिहाज़ा, केंद्र सरकार को इसे लेकर संशय दूर करना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि, झारखंड को पहली खेप कोविशील्ड की मिली है। राज्य सरकार को पता नहीं है कि, अगली खेप किस कंपनी की वैक्सीन मिलेगी। उन्होने कहा कि, केंद्र सरकार ने राज्य की ज़रूरत का आंकड़ा मांगा जिसे भेज दिया गया है।

jharkhand-matter jharkhand-matter (PC: social media)

सबसे पहले वैक्सीन लगाने को तैयार

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि, राज्य की जनता की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी सरकार की है। लिहाज़ा, टीकाकरण को लेकर अगर कोई भ्रम की स्थिति उत्पन्न होती है तो वो सबसे पहले वैक्सीन लगाने को तैयार हैं। उन्होने कहा कि, जान-माल की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी से राज्य सरकार पीछे नहीं हटने वाली है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि, जनता को एक्सपेरीमेंट का औज़ार नहीं बनाया जाना चाहिए। पूरी तहक़ीक़ात के बाद ही इसे आम लोगों के बीच लाया जाना चाहिए।

ये भी पढ़ें:Gorakhpur Mahotsav: रामगढ़ झील में उतारेंगे सी प्लेन, CM योगी का बड़ा ऐलान

लाभुकों की हुई पहचान

07 जनवरी को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में कोरोना टीकाकरण को लेकर बैठक की गई। इसमें बताया गया कि, टीकाकरण के लिए 99 लाख 89 लोगों को चिन्हित किया गया है। पहले चरण में डेढ़ लाख हेल्थ वर्कर्स और दो लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया जाएगा। पूरे राज्य में 275 की संख्या में वैक्सीन भंडार बनाए गए हैं। इसमें राज्यस्तरीय एक और दो क्षेत्रीय स्तर के वैक्सीन भंडार हैं। टीका लगाने वाले लाभार्थियों को डीजिटल टीकाकरण प्रमाण पत्र दिया जाएगा।

रिपोर्ट- शाहनवाज़

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story