Top

Jharkhand News: कोरोना वैक्सीन है पूरी तरह से सुरक्षित, रिम्स निदेशक का बयान

रांची को छोड़कर अन्य 23 ज़िलों में दो-दो टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। रांची में सदर अस्पताल, नामकोम सामुदायिक केंद्र के अलावा रिम्स में सेंटर बनाया गया है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 18 Jan 2021 8:33 AM GMT

Jharkhand News: कोरोना वैक्सीन है पूरी तरह से सुरक्षित, रिम्स निदेशक का बयान
X
Jharkhand News: कोरोना वैक्सीन है पूरी तरह से सुरक्षित, रिम्स निदेशक का बयान (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रांची: कोरोना वैक्सीन को लेकर कोई शक की गुंजाइश नहीं है। टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। देश के वैज्ञानिकों ने अथक प्रयास से कोविड 19 का टीका तैयार किया है। लिहाज़ा, इसे बेहिचक लगाया जा सकता है। झारखंड के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल रिम्स के निदेशक कामेश्वर प्रसाद ने खुद कोरोना का टीका लगाया। रांची में मीडिया कर्मियो से बात करते हुए उन्होने कहा कि, कोरोना की वैक्सीन लेने में डरने की ज़रूरत नहीं है। उन्होने खुद इसका टीका लिया है। इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

ये भी पढ़ें:UP MLC Election 2021: BJP के उम्मीदवारों ने दाखिल किए नामांकन, देखें तस्वीरें

रांची में तीन केंद्र

रांची को छोड़कर अन्य 23 ज़िलों में दो-दो टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। रांची में सदर अस्पताल, नामकोम सामुदायिक केंद्र के अलावा रिम्स में सेंटर बनाया गया है। शनिवार से शुरू हुए टीकाकरण में रिम्स को शामिल नहीं किया गया था। सोमवार को राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल रिम्स में टीकाकरण का काम शुरू हुआ। रिम्स निदेशक कामेश्वर प्रसाद ने खुद इसका टीका लिया। पहला टीका रिम्स के सुरक्षाकर्मी बैजू प्रसाद को लगाया गया। टीका लेने के बाद किसी तरह का कोई साइड इफेक्ट सामने नहीं आया है।

jharkhand-matter jharkhand-matter (PC: social media)

टीका लेने वाले सुरक्षित

शनिवार को रांची समेत सभी ज़िलों में टीकाकरण का काम शुरू हुआ। पहले दिन 3200 हेल्थ वर्कर्स को टीका लगाया गया। राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अजीत ने बताया कि, दो मामूली शिकायतों को छोड़कर कोई गंभीर मामला सामने नहीं आया है। टीका लेने वाले सभी स्वास्थ्यकर्मी स्वस्थ हैं। उनपर निगरानी रखी जा रही है।

वैक्सीन देश के लिए वरदान

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि, उम्मीद की जानी चाहिए कि, कोरोना वैक्सीन देश के लिए वरदान साबित होगी। उन्होने कहा कि, सभी टीकाकरण केंद्रों में वैक्सीन की उपलब्धता हो इसे सुनिश्चित किया जा रहा है। हेमंत सोरेन ने कहा कि, राज्य सरकार ने पूरी प्रतिबद्धता के साथ कोरोना से बचाव के लिए कदम उठाए हैं। यही वजह है कि, झारखंड अन्य राज्यों के मुकाबले बेहतर स्थिति में रहा है। राज्य का रिकवरी रेट अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर है।

ये भी पढ़ें:ट्रैक्टर रैली को लेकर को लेकर आज SC में हुई सुनवाई, यहां पढ़ें किसने क्या कहा?

वैज्ञानिकों को मिले भारत रत्न

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा है कि, कोरोना वैक्सीन बनाने वाले वैज्ञानिकों को भारत रत्न मिलना चाहिए। टीकाकरण अभियान वैज्ञानिकों के अथक प्रयास का परिणाम है। लिहाज़ा, इसे इवेंट मैनेजमेंट बनाने की ज़रूरत नहीं है। बन्ना गुप्ता ने कहा है कि, उन्हे इस बात का अफसोस है कि, वे सबसे पहले टीका नहीं लगा पाए। इस बाबत केंद्र सरकार से इजाजत मांगी गई थी लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान उन्हे मीडियाकर्मियों को भी टीका लगाने की मांग की। इसपर राज्य सरकार की ओर से प्रस्ताव मांगा गया है।

रिपोर्ट- शाहनवाज़

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story