कल्याण अगले विधानसभा चुनाव में भूमिका निभाने को तैयार

यूपी के दो बार मुख्यमंत्री और पांच साल तक राजस्थान का राज्यपाल रहने के बाद कल्याण सिंह एक बार फिर भाजपा की सक्रिय राजनीति में वापस आ गये। 87 वर्षीय कल्याण सिंह 2022 के विधानसभा चुनाव में अपनी भूमिका निभाने को तैयार हैं।

लखनऊ: यूपी के दो बार मुख्यमंत्री और पांच साल तक राजस्थान का राज्यपाल रहने के बाद कल्याण सिंह एक बार फिर भाजपा की सक्रिय राजनीति में वापस आ गये। 87 वर्षीय कल्याण सिंह 2022 के विधानसभा चुनाव में अपनी भूमिका निभाने को तैयार हैं।

राम मंदिर पर कल्याण सिंह ने कहा कि सारी राजनीति पार्टियां जनता के सामने अपना पक्ष साफ करें, वह मंदिर के निर्माण के पक्ष में हैं या नहीं।

यह भी पढ़ें…RSS ने भी NRC पर खड़े किए सवाल, मोदी सरकार से की ये बड़ी मांग

कल्याण सिंह सोमवार को जब लखनऊ पहुंचे तो उनका भाजपा कार्यालय पहुचंने तक पूरे रास्ते जोरदार स्वागत किया गया। इसके बाद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता दिलाई।

इसके बाद कल्याण सिंह ने पत्रकारों से वार्ता के दौरान कहा कि मैंने आज भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है। पिछले कई वर्षों की लंबी यात्रा के बाद अब भारतीय जनता पार्टी बहुत आगे बढ़ चुकी है। यहां तक कि केंद्र और प्रदेश के साथ-साथ विश्व की सबसे बड़ी पार्टी भी बन गई है।

यह भी पढ़ें…बिहार में नीतीश को लेकर नारों की सियासत, विपक्ष ने किया हमला

उन्होंने कहा कि केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व का कोई विकल्प नहीं है। उसी तरह उत्तर प्रदेश में भी योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व का कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा कि मुझे अब चुनाव नहीं लड़ना है बहुत चुनाव लड़ चुका हूं और कार्यकर्ताओं का बहुत प्यार मिला है।

भाजपा सदस्य के रूप में पार्टी की सेवा करूंगा। पार्टी को मुझसे जितना भी हो सकेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र प्रदेश के लिए पार्टी के सामान्य कार्यकर्ता के रूप में कार्य करूंगा।

यह भी पढ़ें…भूकंप से हिला जम्मू-कश्मीर! लोगों में दहशत का माहौल, 5.0 मापी गई तीव्रता

राम मंदिर जन्मभूमि पर कल्याण सिंह ने कहा कि राममंदिर का निर्माण करोड़ों लोगों की आस्था का प्रतीक है। राम मंदिर पर कोई राजनीति नहीं करना चाहता हूं।

उन्होंने कहा कि जब से योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री का पद संभाला है प्रदेश में बड़ा परिवर्तन आया है विकास की गति तेज हुई है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था संतोषजनक है। योगी के कार्यकाल में प्रदेश अभी तक कोई दंगा नहीं हुआ है यह बड़ी बात है।

यह भी पढ़ें…450 सवाल! पी. चिदंबरम के उड़ गये सुख और चैन

माना जा रहा है कि लंबे समय तक पार्टी के प्रमुख रणनीतिकार कल्याण ने आगे की भूमिका के लिए खुद को तैयार करना शुरू कर दिया है। वहीं अयोध्या में राम मंदिर निर्माण और 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में कल्याण सिंह एक बड़ी भूमिका में नजर आ सकते हैं।