भारत और पाकिस्तान में छिड़ी जंग, अब क्रिकेटर आए आमने-सामने

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। दुनिया में इस जानलेवा वायरस से 80 हजार से अधिक लोगों की मौत हो गई है, तो वहीं 15 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हैं।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। दुनिया में इस जानलेवा वायरस से 80 हजार से अधिक लोगों की मौत हो गई है, तो वहीं 15 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हैं। इस बीच हाल ही में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए भारत और पाकिस्तान के लिए फंड जुटाने के मकसद से दोनों देशों के बीच एक तीन मैचों की वनडे सीरीज कराने का प्रस्ताव रखा था।

अब भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव ने शोएब अख्तर के इस प्रस्ताव का जवाब दिया है और जमकर फटकार लगाई है। कपिल देव ने कहा कि भारत को पैसों की जरूरत नहीं है और ऐसे समय में क्रिकेट का भी कोई तुक नहीं बनता।

यह भी पढ़ें…लॉक डाउन के बीच दुबई में शराब की होम डिलीवरी शुरू

कपिल देव ने कहा कि वह(शोएब अख्तर) अपनी राय का हकदार है, लेकिन हमें पैसे जुटाने की आवश्यकता नहीं है। हमारे पास पर्याप्त फंड है। हमारे लिए अभी जो महत्वपूर्ण है वह यह है कि हमारे अधिकारी इस संकट से निपटने के लिए एक साथ कैसे काम करते हैं। मैं अभी भी राजनेताओं के टेलीविजन पर बहुत सारे दोषपूर्ण खेल(ब्लेम गेम) देख रहा हूं और इसे रोकने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें…मोदी की अपील का असर, उन नौ मिनटों में दर्ज की गई दर्शकों की सबसे बड़ी गिरावट

BCCI ने दिए हैं करोड़ों

कपिल देव ने कहा कि वैसे भी BCCI ने इस कारण के लिए एक मोटी राशि (51 करोड़ रुपये) दान की है और अगर जरूरत पड़ी तो वह और अधिक दान करने की स्थिति में है। इसे धन जुटाने की जरूरत नहीं है।  उन्होंने कहा कि स्थिति के अभी सामान्य होने की संभावना नहीं है और ऐसे में जल्द ही क्रिकेट खेल आयोजित करने का मतलब है कि अपने क्रिकेटरों को जोखिम में डालना। उन्होंने कहा कि अभी मैच की हमें जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें…केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, आंबेडकर जयंती पर बंद रहेंगे सभी सरकारी कार्यालय

कपिल देव का कहना है कि अगले 6 महीने तक क्रिकेट होना ही नहीं चाहिए, क्योंकि इसमें काफी रिस्क है। उन्होंने कहा है कि आप तीन मैचों से कितना पैसा कमा सकते हैं? जिसके लिए खिलाड़ियों को जोखिम में डाला जाए। कपिल देव मानते हैं कि फिलहाल सभी का ध्यान इस समय लोगों की जिंदगी बचाने पर होना चाहिए।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App