तो भैय्या ‘कर’नाटक में कल होगा नाटक का अंत, सदन में ही सोएंगे ये विधायक

कर्नाटक में बीते 15 दिन से जारी राजनैतिक उथल पुथल अपने अंतिम दौर में पहुंच चुकी है। विधानसभा में सीएम कुमारस्वामी सरकार आज फ्लोर टेस्ट का सामना करेगी। इसके बाद साफ़ होगा कि एचडी कुमारस्वामी की सरकार बचेगी या नहीं।

बेंगलुरु: कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार का भविष्य क्या होगा, इसका फैसला अब कल होगा। कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही शुक्रवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है। यानी कि अब आज विश्वास मत पर वोटिंग नहीं हो पाएगी।

ये भी देखें:अयोध्या केस में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, 2 अगस्त से रोजाना होगी सुनवाई

क्या है कोर्ट का फैसला

सुप्रीम कोर्ट ने कल ही फैसला सुनाया था कि 15 बागी विधायकों को सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता है।

क्या कहा बीजेपी ने

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बीएस येद्दयुरप्पा ने कहा है कि कांग्रेस गठबंधन 100 से कम हैं और हम 105 पर हैं। ऐसे में इसमें कोई संदेह नहीं है कि उनकी पराजय निश्चित है।

ये भी देखें:हैप्पी बर्थडे प्रियंका चोपड़ा, 37 वें जन्मदिन पर देखिए उनकी चुनिंदा तस्वीरें

क्या गिरेगी सरकार

विधानसभा स्पीकर केआर रमेश को बागी विधायकों के इस्तीफे पर निर्णय लेना है। 15 बागी विधायकों का इस्तीफा यदि मंजूर कर लेते हैं तो ऐसे में कुमारस्वामी सरकार की मुश्किलें ज्यादा बढ़ सकती हैं। बहुमत हासिल करने के लिए कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार को 105 विधायकों के समर्थन की जरूरत होगी, क्योंकि सभी 15 बागी विधायकों का इस्तीफा मंजूर होने पर कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के पास 101 विधायकों का ही समर्थन बचेगा। इस्तीफा मंजूर होने पर कांग्रेस विधायकों की संख्या 79 से घटकर 66 और जेडीएस विधायकों की 37 से घटकर 34 हो जाएगी।