आम आदमी के हो गए केदारनाथ बाबा, वीआईपी दर्शन पर लग गई रोक

केदारनाथ में श्रद्धालुओं के भारी विरोध के चलते विशेष दर्शन पर रोक लगा दी गई है। अब विशेष दर्शनों के लिए बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) की ओर से मंदिर में 2100 रुपयों की विशेष पर्ची भी नहीं कटेगी।

नई दिल्ली: केदारनाथ में श्रद्धालुओं के भारी विरोध के चलते विशेष दर्शन पर रोक लगा दी गई है। अब विशेष दर्शनों के लिए बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) की ओर से मंदिर में 2100 रुपयों की विशेष पर्ची भी नहीं कटेगी।

यह भी देखें… क्या आप मोलू-चित्रग्राम को जानते हैं, जहां सेना ने 2 आतंकियों को उतारा मौत के घाट

रविवार को बीकेटीसी और प्रशासन के इस संयुक्त फैसले के बाद विशेष दर्शन की पर्ची कटवाने वाले श्रद्धालुओं को भी घंटों लाइन में लगना पड़ा। बताया गया है कि अब सिर्फ प्रोटोकॉल और हेली सेवा के तहत आने वाले श्रद्धालु ही वीआईपी दर्शन कर सकेंगे, लेकिन इसके लिए उनका सत्यापन किया जाएगा।

केदारनाथ यात्रा में पिछले दस दिनों से हर रोज श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ रही है। बाबा के दर्शनों के लिए लोग रात दो बजे से ही लाइन में लग रहे हैं, जिससे सुबह होने तक लाइन वेली ब्रिज तक पहुंच रही है। इस स्थिति में श्रद्धालु कम से कम तीन से चार घंटे लाइन में खड़े होने के बाद ही बाबा के दर्शन कर पा रहे हैं।

यह भी देखें… शोपियां जिले के मोलू-चित्रग्राम इलाके में एनकाउंटर में 2 आतंकवादी ढेर

मंदिर समिति द्वारा 2100 रुपये की पर्ची पर प्रतिदिन डेढ़ से दो हजार यात्रियों को वीआईपी की तर्ज पर स्पेशल दर्शन कराए जा रहे थे, जिससे अव्यवस्था पनप रही थी और आम श्रद्धालु परेशान हो रहे थे। रविवार को भी सुबह से मंदिर परिसर से वेली ब्रिज तक लाइन लग चुकी थी।

साथ ही पर्ची के आधार पर विशेष दर्शन भी होते रहे, लेकिन दोपहर बाद श्रद्धालुओं का सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने आक्रोश जताते हुए विशेष दर्शन व्यवस्था के प्रति नाराजगी जताई।

उनका कहना था कि वे घंटों लाइन में लगने के बाद भी बहुत मुश्किल से दर्शन कर पा रहे हैं, जबकि कुछ लोग 2100 रुपये की पर्ची से मंदिर में पहुंचते ही गर्भगृह में दर्शन को जा रहे हैं। यात्रियों के विरोध के चलते जिला प्रशासन और बीकेटीसी को विशेष दर्शन बंद कराने का फैसला लेना पड़ा।

यह भी देखें… सीरिया में नमाज के दौरान कार बम धमाका, बच्चों समेत 17 लोगों की मौत

पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि बीकेटीसी द्वारा केदारनाथ में पर्ची के आधार पर वीआईपी दर्शन की व्यवस्था को बंद कर दिया गया है। इधर, बीकेटीसी के कार्याधिकारी एनपी जमलोकी का कहना है कि बीकेटीसी द्वारा बुजुर्ग, विकलांग या लाइन में खड़े होने में असमर्थ यात्रियों की स्वेच्छा पर ही उनकी 2100 की पर्ची काटकर उन्हें स्पेशल दर्शन कराए जा रहे थे। हवाई सेवा से आने वाले श्रद्धालुओं की हेलीपैड पर ही 2100 की पर्ची कट रही है, इसलिए उनके लिए वीआईपी दर्शन की व्यवस्था जारी है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App