×

सरकार ने किया बड़ा एलान: मजदूरों के लिए सीएम केजरीवाल ने लिया ये फैसला

तिहाड़ी मजदूरों, निर्माण मजदूरों, रिक्शा चालकों आदि अन्य गरीब वर्ग के लिए आर्थिक मदद, फ्री राशन, पका हुआ भोजन देने का एलान किया, तो वहीं अब लॉकडाउन के कारण राजयसे पलायन कर तहे लोगों के रहने की व्यवस्था करने के साथ ही उनके घरों का किराया भी देने को तैयार है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 29 March 2020 2:21 PM GMT

सरकार ने किया बड़ा एलान: मजदूरों के लिए सीएम केजरीवाल ने लिया ये फैसला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना वायरस को खत्म करने में लगी केजरीवाल सरकार एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही है। इस बाबत जारी लॉकडाउन का पालन कराने के लिए दिल्ली वासियो को हर तरह की सुविधा भी दी जा रही। पहले तिहाड़ी मजदूरों, निर्माण मजदूरों, रिक्शा चालकों आदि अन्य गरीब वर्ग के लिए आर्थिक मदद, फ्री राशन, पका हुआ भोजन देने का एलान किया, तो वहीं अब लॉकडाउन के कारण राजयसे पलायन कर तहे लोगों के रहने की व्यवस्था करने के साथ ही उनके घरों का किराया भी देने को तैयार है।

घर का किराया भी देगी केजरीवाल सरकार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी से पलायन कर रहे प्रवासी वर्कर्स और मजदूरों के लिए बड़ी घोषणा की है। केजरीवाल ने सभी से राजधानी में ही रुकने की अपील की है। इसके साथ ही कहा कि, दिल्ली सरकार सभी के घरों का किराया देगी।

ये भी पढ़ेः कोरोना: यहां जानें कैसे बचना है इस वायरस से, ये दस बातें जानना है जरूरी

ये फैसला सीएम ने कोरोना वायरस को बढ़ने से रोकने को लेकर किया। उन्होंने कहा कि इस तरह से बड़ी संख्या में पलायन करने से कोरोना के संक्रमण का खतरा बहुत बढ़ जाएगा।

मकानमालिकों से अपील, किराया देने का बनाये दबाव

सीएम ने एलान किया, 'अगर किराएदार अपना किराया एक या दो महीनों तक देने में सक्षम नहीं हैं तो सरकार उनकी तरफ से किराए का भुगतान करेगी। वहीं मकानमालिकों से अपील की कि किराया देने का दबाव न बनाये।

ये भी पढ़ेःलॉकडाउन के बीच भीषण सड़क हादसा, पांच लोगों को बेकाबू ट्रक ने रौंदा, मौत

इसके पहले मजदूरों के रहें की भी की थी व्यवस्थाः

गौरतलब है कि इसके पहले पलायन को रोकने के लिए सरकार मजदूरों की मदद के लिए आगे आई थी और पलायन कर मजदूरों के लिए दिल्ली के सरकारी स्कूलों में बसेरा बनाये जाने की बात कही थी। ये घोषणा डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने किया। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में मजदूर रुक सकते हैं और उनके खाने का भी प्रबंध किया जाएगा।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story