LAC विवाद पर चीन की ये मांग, भारत ने किया साफ़ इनकार

भारत चीन के बीच तीन घंटे चली बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। जहां एक ओर चीन ने भारत से सड़क निर्माण रोकने को कहा, तो वहीं भारत ने भी चीन से सीमा पर पहले जैसी स्थिति में जाने को कहा।

नई दिल्ली: पिछले एक महीने से लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर भारत-चीन के बीच विवाद पर आज दोनों देशों के सैन्य कमांडरों के बीच बैठक हुई। इस दौरान भारत की ओर से लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह और चीन की तरफ से तरफ से साउथ शिनजियांग मिलिट्री कमांड के कमांडर मेजर जनरल लियो लिन के बीच बॉर्डर विवाद पर बातचीत हुई।

LAC विवाद पर भारत-चीन सैन्य कमांडरों की बैठक

भारत चीन के बीच तीन घंटे चली बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। जहां एक ओर चीन ने भारत से सड़क निर्माण रोकने को कहा, तो वहीं भारत ने भी चीन से सीमा पर पहले जैसी स्थिति में जाने को कहा।

NSA अजित डोभाल और पीएम कार्यालय भेजी जायेगी मीटिंग की रिपोर्ट

इंडिया आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे इस बैठक को लेकर ब्रीफ करेंगे। वहीं ब्रीफिंग के बाद डायरेक्टरेट जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशन्स के अधिकारी की विदेश मंत्रालय और मुद्दे से संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक प्रस्तावित है। इसके अलावा इस NSA अजित डोभाल और प्रधानमंत्री कार्यालय में मीटिंग से सम्बंधित रिपोर्ट सौंपी जायेगी।

ये भी पढ़ेंः कोरोना पर ट्रंप का बड़ा बयान, बोले- भारत और चीन में ऐसा हुआ तो अमेरिका से…

झगड़े वाली जगह से 20 किलोमीटर की दूर हुई बैठक

बता दें कि लाइन ऑफ एक्च्यूअल कंट्रोल पर हुई ये बैठक कई दिनों से चल रहे तनाव को कम करने के लिए बुलाई गई थी। बैठक झगड़े वाली जगह से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित मोल्डो में हुई।

भारत से सड़क निर्माण कार्य रोकने से किया साफ इनकार

बीते दिन दोनों देशों के विदेश मंत्रालयों के अधिकारियों के बीच बैठक में भी इसी मुद्दे पर बातचीत से मामला सुलझाने की सहमति बनी थी। हालंकि सूत्रों के मुताबिक, आज हुई बैठक में चीन ने जब भारत से सड़क निर्माण कार्य रोकने को कहा तो, भारत ने इससे साफ़ इंकार कर दिया। वहीं भारत ने भी चीन से अप्रैल से पहले तक एलएसी में जिस पोजीशन पर थे, उसपर वापस जाने की हिदायत दी।

ये भी पढ़ेंः तूफ़ान भी नहीं हिला सका इन्हें, अम्फान का नहीं पड़ा कोई असर

भारत-चीन के बीच विवाद पर 10 बार वार्तालाप

गौरतलब है कि विवादों के चलते दोनों देशों के बीच अलग-अलग स्तर पर अब तक कम से कम 10 बार वार्तालाप हो चुकी है। फिलहाल सारी वार्तालाप बेनतीजा ही रही हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।