Top

LIC पॉलिसी ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, प्रीमियम भरने के लिए मिली इतने दिन की छूट

भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) ने ग्राहकों को तोहफा दिया है। एलआईसी ने मार्च और अप्रैल के प्रीमियम भुगतान के लिए पॉलिसी धारकों को 30 दिन का अतिरिक्त समय देने का एलान किया है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 12 April 2020 4:34 AM GMT

LIC पॉलिसी ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, प्रीमियम भरने के लिए मिली इतने दिन की छूट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) ने ग्राहकों को तोहफा दिया है। एलआईसी ने मार्च और अप्रैल के प्रीमियम भुगतान के लिए पॉलिसी धारकों को 30 दिन का अतिरिक्त समय देने का एलान किया है। कंपनी ने कोरोना महामारी की वजह से देश में लागू लाकडाॅउन के मद्देनजर पॉलिसी धारकों को राहत देने के लिए यह कदम उठाया है।

एलआईसी ने बताया कि फरवरी के प्रीमियम के लिए दिया गया अतिरिक्त समय 22 मार्च को खत्म होने के बाद इसे 15 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है। कंपनी के बयान में कहा गया है कि एलआईसी के बीमाधारक बिना सेवा शुल्क के एलआईसी डिजिटल पेमेंट विकल्प के जरिये प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें...कोरोना वायरस: भारत की आधे घंटे में जांच वाली टेस्ट किट पहुंची अमेरिका, उठे सवाल

बीमा कंपनी ने कहा कि प्रीमियम भुगतान के लिए पॉलिसीधारकों को वेबसाइट पर पंजीकरण कराने की जरूरत नहीं है। वह सीधे कुछ जानकारी देकर भुगतान कर सकते हैं। इसके अलावा प्रीमियम का भुगतान मोबाइल एप 'एलआईसी पे डायरेक्ट' को डाउनलोड कर भी किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें...रामबाण है योगी का यह मॉडल, अब कई राज्यों के लिए बना नजीर

ऐसे भी कर सकते हैं भुगतान

एलआईसी ने कहा है कि नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, पेटीएम, फोनपे, गूगल पे, भीम, यूपीआई के जरिये भी प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं। आईडीबीआई बैंक और एक्सिस बैंक की शाखाओं और ब्लॉक स्तर पर परिचालन कर रहे आम सेवा केंद्रों (सीएससी) पर नकद में भी प्रीमियम का भुगतान किया जा सकता है। बीमा कंपनी ने पॉलिसीधारकों को आश्वस्त किया कि है कि कोरोना वायरस से मृत्यु होने पर इसे ऐसे अन्य मामलों के समान ही माना जाएगा और इसमें दावे का भुगतान तुरंत करने की व्यवस्था की जाएगी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story