रेलवे के खाने में बार-बार मिल रही थी छिपकली, सच्चाई जानकर हो जाएंगे हैरान

रेल यात्रा के दौरान ज्यादातर लोग ट्रेन में खाने के लिए कुछ ना कुछ जरूर मंगाते हैं। रेलवे के खाने की उपभोक्ता कई बार शिकायतें करते हैं। लेकिन आप एक शिकायतकर्ता की सच्चाई जानकर हैरान रह जाएंगे।

नई दिल्ली: रेल यात्रा के दौरान ज्यादातर लोग ट्रेन में खाने के लिए कुछ ना कुछ जरूर मंगाते हैं। रेलवे के खाने की उपभोक्ता कई बार शिकायतें करते हैं। लेकिन आप एक शिकायतकर्ता की सच्चाई जानकर हैरान रह जाएंगे।

दरअसल एक बुजुर्ग ने फ्री में खाना खाने के लिए रेलवे के साथ ऐसा किया कि उसकी सच्चाई जानकर रेलवे अधिकारी भी हैरान हो गए। 70 वर्षीय बुजुर्ग सुरेंद्र पाल पर आरोप है कि कि वह खाने में जानबूझकर छिपकली डालता था, ताकि उसे फ्री में खाना मिल सके।

यह भी पढ़ें…यश भारती पुरस्कार: सपा ने जारी किया फ़ोटो, कहा सांसद मांगे माफी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस बुजुर्ग ने 14 जुलाई को जबलपुर रेलवे स्टेशन पर समोसा ऑर्डर किया, जिसमें उसने छिपकली मिलने की शिकायत की। इसके बार गंटकल स्टेशन पर उसने दोबारा बिरयानी ऑर्डर की, जिसमें भी उसने छिपकली निकलने की शिकायत दर्ज की। बार-बार एक ही शख्स द्वारा छिपकली निकलने की शिकायत पर रेलवे अधिकारी हैरान हो गए और रेल अधिकारियों को कुछ शक हुआ।

इसके बाद उन्होंने गंटकल रेलवे स्टेशन से शिकायतकर्ता सुरेंद्र पाल का वीडियो मंगवाया। वीडियो देखकर अधिकारियों को समझ में आ गया कि यह आदमी मुफ्त में खाना लेने के लिए बार-बार झूठी शिकायत दर्ज करा रहा था।

यह भी पढ़ें…ट्रंप के बयान पर राजनाथ ने संसद में दिया जवाब, विपक्ष का हंगामा

सच्चाई सामने आने के बाद रेलवे ने आरोपी यात्री का एक वीडियो जारी कर ट्रेन में खाना परोसने वालों को सतर्क रहने के लिए कहा। रेलवे द्वारा जारी वीडियो में बुजुर्ग ने अपनी गलती स्वीकारी है। जारी वीडियो में बुजुर्ग ने कहा, “मैंने गलत काम किया है। बुजुर्ग आदमी हूं और दिमागी रूप से अस्थिर हूं।”

बुजुर्ग को रेलवे ने कोई सजा नहीं दी। वीडियो में अधिकारी सिर्फ उसे समझाते नजर आ रहे हैं कि सिर्फ फ्री के खाने के लिए रेलवे का नाम खराब करना गलत है।