लॉकडाउन की नो टेशन: इस राज्य में दोगुना राहत पैकेज, सरकार ने लिया बड़ा फैसला

कोरोनावायरस से लड़ने के लिए जारी लॉकडाउन के चलते आय के जरिया खत्म होने और भुखमरी की कगार पर आये लोगों को राज्य सरकारें मुफ्त राशन और आर्थिक मदद देकर बड़ी राहत दे रहीं हैं लेकिन भारत का एक राज्य ऐसा है जो यह राहत डबल करके दे रहा है।

देहरादून: कोरोनावायरस से लड़ने के लिए जारी लॉकडाउन के चलते आय के जरिया खत्म होने और भुखमरी की कगार पर आये लोगों को राज्य सरकारें मुफ्त राशन और आर्थिक मदद देकर बड़ी राहत दे रहीं हैं लेकिन भारत का एक राज्य ऐसा है जो यह राहत डबल करके दे रहा है।

उत्तराखंड सरकार ने दोगुना राशन देने का किया एलान

दरअसल, लॉकडाउन के चलते उत्तराखंड सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए 11 लाख परिवारों को प्रति माह मिलने वाला सस्ता राशन दोगुना कर दिया। ये 11 लाख परिवार एपीएल कार्ड धारकों के अंतर्गत आते हैं, जिन्हे राज्य खाद्य योजना के तहत राहत दी गयी है। बता दें कि इस डबल राहत पैकेज के एलान के बाद अब हर एपीएल परिवार को प्रति राशन कार्ड 15 किलो राशन मिलेगा।

ये भी पढ़ेंःसील इलाकों में लोगों पर पड़ेगा ये प्रभाव: जानें, क्या कर सकते हैं- क्या नहीं

उत्तराखंड

ये है सस्ते राशन का कोटा

इसके पहले तक राज्य खाद्य योजना के तहत एपीएल परिवारों को कुल साढ़े सात किलो राशन प्रति माह ही मिलता था। इसमें पांच किलो गेहूं और ढाई किलो चावल प्रति कार्ड निर्धारित है। जबकि प्राथमिक परिवारों को प्रति सदस्य के हिसाब से दो किलो गेहूं और तीन किलो चावल और अंत्योदय परिवार को प्रति कार्ड 35 किलो राशन प्रति माह मिलता है। इसमें 21 किलो 700 ग्राम गेहूं और 13 किलो 300 ग्राम चावल मिलता है।

ये भी पढ़ेंः कोरोना से लड़ाई: केंद्र ने राज्यों के लिए खोला खजाना, दिए इतने करोड़

उत्तराखडं कैबनेट बैठक में प्रस्ताव पास

ये फैसला मुख्यमंत्री त्रिवेन्द सिंह रावत की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में लिया गया। एपीएल परिवारों का सस्ता राशन दोगुना करने वाले प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद लॉकडाउन के दौरान इन परिवारों को खाने की समस्या नहीं हो सकेगी।

गौरतलब है कि उत्तराखंड में 23 लाख से अधिक राशन कार्ड धारक हैं, जो तीन श्रेणियों में हैं। इसके तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत लगभग 11 लाख एपीएल परिवार आते हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।