लॉकडाउन हो जाएगा फेल, जाने ऐसा क्यों बोले मुख्यमंत्री

देशभर में कोरोना वायरस ने आफत मचा के रख दी है। इसी बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने मजदूरों के लिए की गई बसों की व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं। सीएम नीतीश कुमार ने कहा- कि दिल्ली से या कहीं और से लोगों को बुलाने से समस्या और बढ़ेगी।

लॉकडाऊन अवधि में सड़क एवं गलियों में भीड़ का जिम्मेदार कौन है ?

नई दिल्ली : देशभर में कोरोना वायरस ने आफत मचा के रख दी है। इसी बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने मजदूरों के लिए की गई बसों की व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं। सीएम नीतीश कुमार ने कहा- कि दिल्ली से या कहीं और से लोगों को बुलाने से समस्या और बढ़ेगी। बिहार सरकार चाहती है कि जो जहां है वहीं उनके रहने खाने की व्यवस्था की जाए। बसों से लोगो को बुलाने से लॉकडाउन का कोई मतलब नहीं रह जाएगा। ऐसे में सीएम नीतीश कुमार लॉकडाउन में फंसे लोगों को बुलाने के फैसले को गलत ठहराते हुए कहा कि इससे पीएम मोदी का लॉकडाउन फेल हो जाएगा।

ये भी पढ़ें… बड़ा बदलाव: बैंक ने ग्राहकों को लॉकडाउन में दी राहत साथ झटका भी

कोरोना संक्रमित मामलों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी

दुनियाभर में इस महामारी का खतरा कम होने का नाम ही नही ले रहा है। हर देश हर राज्य अपने अपने लोगों की रक्षा के लिए सभी तरह से प्रयास कर रही है। लेकिन फिर भी भारत में कोरोना संक्रमित मामलों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है।

पूरे भारत में लॉकडाउन के चलते हजारों मजदूर पैदल ही अपने घरों की ओर जा रहे हैं। ऐसे में भारी संख्या में पलायन कर रहे मजदूर और श्रमिक हाईवे पर फंसे हैं। इस बीच यूपी और दिल्ली सरकार ने बसों के जरिए लोगों को पहुंचाने की व्यवस्था की है।

ये भी पढ़ें… चिनहट चौराहे पर लगी लोगों की भीड़, सरकारी बसों ने दिल्ली से लाकर छोड़ा

भारतीय रेलवे ने आइसोलेश कोच तैयार

इसी के साथ कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के लिए भारतीय रेलवे ने आइसोलेश कोच तैयार किए हैं। संक्रमित मरीजों के लिए केबिन बनाने के लिए बीच वाले बर्थ को हटा दिया गया है ट्रेन में सामने वाले तीनों बर्थ को हटा दिया गया है। ऊपर वाले बर्थ पर जाने के लिए बनी सीढि़यां भी हटा दी गई है। आइसोलेशन कोच को तैयार करने के लिए बाथरूम, गलियारे के क्षेत्रों और अन्य कई क्षेत्रों को भी संशोधित किया जा रहा है।