ओम बिरला की बेटी कैसे बिना पेपर दिए बनी IAS, जानें इसकी सच्चाई

ओम बिरला की छोटी बेटी अंजलि बिरला के आईएएस बनने पर पूरा परिवार बेहद खुश है और अपनी बेटी पर गर्व कर रहा है। हालांकि सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि वो बिना पेपर दिए ही IAS बन गईं हैं और उन्हें ये जगह आरक्षित कोटे में से किसी कैंडिडेट को हटाकर दी गई है। 

OM BIRLA

ओम बिरला की बेटी कैसे बिना पेपर दिए बनी IAS, जानें इसकी सच्चाई (फोटो- इंस्टाग्राम)

नई दिल्ली: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की छोटी बेटी अंजलि बिरला का सिविल सर्विसेज में चयन हो गया है। बेटी के IAS बनने पर पूरा परिवार बेहद खुश है और अपनी बेटी पर गर्व कर रहा है। हालांकि इस बीच अंजलि बिरला को लेकर अफवाहों का बाजार गर्म हो चुका है। दरअसल, सोशल मीडिया पर उनको लेकर अफवाह चल रही है अंजलि बिना पेपर दिए ही IAS बन गईं हैं और उन्हें ये जगह आरक्षित कोटे में से किसी कैंडिडेट को हटाकर दी गई है।

ये हैं अफवाहें

सोशल मीडिया यूजर्स अंजलि बिरला के साथ-साथ उनके पिता और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला व भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साध रहे हैं। देखिए ये कुछ ट्वीट्स-

महज अफवाह हैं ये खबरें

लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला की बेटी से जो बातें सोशल मीडिया पर खबरें चल रही हैं, असल में उनमें कोई दम है ही नहीं। यानी ये खबरें महज अफवाह है कि अंजलि बिरला बिना पेपर दिए ही आईएएस बन गई हैं। बता दें कि अंजलि बिड़ला ने साल 2019 में UPSC द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा दी थी। उनका चयन भी रिजल्ट के आधार पर ही हुआ है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में भी अंजलि बिरला के हवाले से उनकी सफलता का राज बताया गया है।

यह भी पढ़ें: JP Nadda की बैठक: राजस्थान में सियासी हलचल, बीजेपी के ये नेता भी शामिल

ANJALI BIRLA
(फोटो- इंस्टाग्राम)

एक मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि अंजलि बिड़ला सिविल सेवा परीक्षा 2019 में शामिल हुई थीं, जिसका रिजल्ट 4 अगस्त 2020 को घोषित किया गया था। जबकि 5 जनवरी 2021 को रिजर्व लिस्ट यानी आरक्षित सूची जारी की गई है। वहीं एक मीडिया एजेंसी से बात करते हुए अंजलि ने बताया कि मैं परीक्षा में सिलेक्ट होकर काफी ज्यादा खुश हूं। उन्होंने बताया कि मैं समाज के लिए कुछ करने के लिए सिविल सर्विस में शामिल होना चाहती थी।

यह भी पढ़ें: तूफान से तबाही: भयानक बारिश ने जीना किया मुश्किल, इन जगहों पर हाई-अलर्ट

ANJALI BIRLA IAS
(फोटो- इंस्टाग्राम)

67वें नंबर पर है अंजलि बिड़ला का नाम

UPSC द्वारा जारी प्रेस नोट के मुताबिक, आयोग अपने नियम 16(4) और (5) के मुताबिक, परीक्षा में मेरिट लिस्ट के अलावा रिजर्व लिस्ट भी तैयार करती है। जिसमें मेरिट लिस्ट के ठीक नीचे वाले कुछ उम्मीदवार होते हैं। प्रेस नोट के मुताबिक, केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा इसी रिजर्व लिस्ट से 89 उम्मीदवारों को चुना गया है। इसमें 73 जनरल, 14 ओबीसी, एक ईडब्ल्यू और एक एससी कैटेगरी के उम्मीदवार शामिल हैं। इसी प्रेस नोट में चुने गए कैंडिडेट्स में अंजलि बिड़ला का नाम 67वें नंबर पर है।

परीक्षा देकर ही हुआ सिलेक्शन

एक मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि अंजलि बिड़ला ने 2019 में सिविल सेवा परीक्षा के प्रिलिम्स और मेंस दोनों परीक्षा दिए थे और रिजल्ट के आधार पर ही उनका चयन हुआ है।नउन्हें किसी आरक्षित कैंडिडेट को हटाकर सीट नहीं दी गई है।

यह भी पढ़ें: मांझी की पार्टी HAM का ऐलान- बंगाल में 26 विधानसभा सीट पर लड़ेंगे चुनाव

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App