×

मुंबई कांड: माफिया अबू सलेम साथी चढा एसटीएफ के हत्थे, मिली सफलता

मुंबई बम विस्फोट का आरोपी अबू सलेम का एक साथी आज गिरफ्तार कर लिया गया। डी कम्पनी से जुड़े अबू सलेम के साथ गजेंद्र को आज नोएडा में गिरफ्तार किया गया। वह 2014 में दिल्ली के व्यापारी से वसूली का भी आरोप हैं।

Newstrack
Updated on: 16 July 2020 7:03 AM GMT
मुंबई कांड: माफिया अबू सलेम साथी चढा एसटीएफ के हत्थे, मिली सफलता
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: मुंबई बम विस्फोट का आरोपी अबू सलेम का एक साथी आज गिरफ्तार कर लिया गया। डी कम्पनी से जुड़े अबू सलेम के साथ गजेंद्र को आज नोएडा में गिरफ्तार किया गया। वह 2014 में दिल्ली के व्यापारी से वसूली का भी आरोप हैं।

ये भी पढ़ें:इस यूनिवर्सिटी में हड़कंपः गायब हो गई भुगतान की हस्ताक्षर वाली फाइल

गजेंद्र पर आरोप है ये

पुलिस ने बताया कि गजेंद्र पर आरोप है कि वह दिल्ली-एनसीआर में न केवल अवैध वसूली करता था, बल्कि अबु सलेम के पैसे भी यहां की प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट करवाता था। पुलिस ने आज उसे राजकुमार मिश्रा के अगुवाई में यूपी एसटीफ की ग्रेटर नोएडा यूनिट ने कुख्यात अबु सलेम और खान मुबारक के निकट सहयोगी गजेंद्र सिंह को सेक्टर 20 से बुधवार रात को गिरफ्तार किया।

प्रारम्भिक जानकारी में आया है कि अबु सलेम के करीबी गजेंद्र सिंह पर आरोप है कि वह अबु सलेम गैंग का खौफ दिखाकर पैसे हड़प लेने के साथ ही अवैध वसूली का काम भी करता है। वर्ष 2014 में दिल्ली के एक बिजनेसमैन से प्रॉपर्टी के नाम पर एक करोड़ अस्सी लाख हड़प लिए थे।जब पैसे वापसी का दबाव पड़ने लगा तो उसने बिजनेसमैन पर खान मुबारक के शूटर्स से सेक्टर 18 में फायरिंग करावा दी थी। . इस फायरिंग के लिए गजेंद्र ने खान मुबारक को 10 लाख रुपए दिए। जिस रास्ते से उसने खान मुबारक को 10 लाख रुपए दिए थे। वो मनी ट्रेल भी आईएसटीएफ के हाथ लगी है. गजेंद्र, खान मुबारक और अबू सलेम के पैसे नोएडा-एनसीआर में प्रॉपर्टी में भी लगाता है।

ये भी पढ़ें:CM योगी ने कई जिलों के लिए बस स्टेशनों का उद्घाटन और शिलान्यास किया

अबू सलेम पिता की मौत के बाद मेकैनिक का काम करने लगा

यहां यह भी बताना जरूरी हे कि यूपी के आजमगढ़ का रहने वाला अबू सलेम पिता की मौत के बाद मेकैनिक का काम करने लगा। इसके बाद अबू सलेम ने पहले दिल्ली की ओर रुख किया और यहां वह टैक्सी चलाने लगा। फिर वह मुंबई चला गया। जहां पर 1986 में अबू सलेम ने मुंबई के बांद्रा और अंधेरी के बीच ब्रेड डिलीवरी का काम किया। 1987 में अबू सलेम ने एक रियल एस्टेट ब्रोकर के तौर पर भी काम किया। यहां पर उसकी माफियाओं से उसकी मुलाकात हुई । इसके बाद वह दाऊद के सम्पक्र्र में आ गया। एक समय वह दाऊद इब्राहिम का निकट सहयोगी था और उसे दाऊद का दाहिना हाथ माना जाता था। 1988 के दौरान अबू सलेम पर अपने ही साथी से जबरदस्ती पैसे वसूल करने का आरोप लगा। यहीं से अबू सलेम ने क्राइम की दुनिया में प्रवेश किया।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story