×

अभी-अभी भयानक हादसा, 20 लोगों की मौत, 30 लोग घायल, मची चीख पुकार

महाराष्ट्र में मालेगांव के पास मंगलवार शाम को बड़ा हादसा हुआ। यहां महाराष्ट्र राज्य परिवहन निगम (रोडवेज) की एक बस कुएं में जा गिरी। इस हादसे में 9 लोगों की मौत हो गई, जबकि 5 गंभीर रूप से घायल हो गए।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 28 Jan 2020 3:26 PM GMT

अभी-अभी भयानक हादसा, 20 लोगों की मौत, 30 लोग घायल, मची चीख पुकार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नासिक: महाराष्ट्र में मालेगांव के पास मंगलवार शाम को बड़ा हादसा हुआ। यहां महाराष्ट्र राज्य परिवहन निगम (रोडवेज) की एक बस कुएं में जा गिरी। इस हादसे में 20 लोगों की मौत हो गई, जबकि 5 गंभीर रूप से घायल हो गए।

नासिक ग्रामीण की पुलिस अधीक्षक आरती सिंह ने बताया कि अब तक 15 शवों को बाहर निकाला गया है। 30 घायलों को अस्पताल भेजा गया है। मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। बस नासिक से धुले जा रही थी।

बताया जा रहा है कि बस और रिक्शे की सामने जबरदस्त टक्कर हो गई जिसके बाद दोनों ही एक कुएं में जा गिरे। बस में कई लोग सवार थे वहीं, रिक्शे में भी कुछ लोग बताए जा रहे हैं। अन्य लोगों को निकालने के लिए रस्सियां बांधकर बस के अंदर जाने की कोशिश हो रही है।

यह भी पढ़ें...देशद्रोह का आरोपी शरजील इमाम गिरफ्तार, दिया था देश को तोड़ने वाला बयान

बस में सवार यात्रियों के मुताबिक बस के सामने अचानक एक ऑटो रिक्शा आ गया था। उसे बचाने की कोशिश में ड्रायवर ने निंयत्रण खो दिया और बस कुएं में गिर गई। इसके साथ ही ऑटो रिक्शा भी कुएं में गिर गया।

यह भी पढ़ें...शरजील इमाम के बोल कन्हैया कुमार से भी ज्यादा खतरनाक: अमित शाह

हादसे के बाद चीख पुकार मच गई। स्थानीय लोग और प्रशासन की टीम लोगों को निकालने में जुटी है। बताया गया है कि बस मालेगांव से नासिक जा रही थी।

यह भी पढ़ें...83 की मौत: अफगानिस्तान में क्रैश विमान पर तालिबान का सनसनीखेज बयान, कहा- US…

मिली जानकारी के मुताबिक एक्सीडेंट के बाद वहां भारी चीखपुकार मच गई तो स्थानीय लोग मदद के लिए दौड़े तो देखा कि वहां इस सड़क हादसे के बाद बस और रिक्शा दोनों ही एक कुएं में गिर गए हैं फिर वहां तेजी से राहत और बचाव कार्य किए जाने लगे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story