भूकंप के तेज झटकों से हिला महाराष्ट्र, रिक्टर स्केल पर तीव्रता 4.8 मापी गई

:महाराष्ट्र के पालघर में आज शनिवार सुबह 4.8 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार इसकी जानकारी दी है। एजेंसी के मुताबिक, रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 4.8 मापी गई है। भूकंप आज सुबह 5 बजकर 22 मिनट पर आया।

Published by suman Published: December 14, 2019 | 8:16 am
Modified: December 14, 2019 | 8:20 am

पालघर:महाराष्ट्र के पालघर में आज शनिवार सुबह 4.8 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार इसकी जानकारी दी है। एजेंसी के मुताबिक, रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 4.8 मापी गई है। भूकंप आज सुबह 5 बजकर 22 मिनट पर आया। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि भूकंप के यह झटके शनिवार सुबह 5.22 पर आए थे। हालांकि भूकंप के झटके में किसी प्रकार के नुकसान की खबर नहीं है।

यह पढ़ें…गुवाहाटी समेत असम के कई हिस्सों में लगे भूकंप के झटके

बता दें कि इससे पहले 26 अक्टूबर को भी पालघर में 2.7 तीव्रता वाला भूकंप आया था।  इसको लेकर मुख्य आपदा प्रकोष्ठ विवेकानंद कदम ने कहा कि जिले में सुबह करीब पौने नौ बजे पांच किलोमीटर की गहरायी में 2.7 तीव्रता का भूकंप का झटका महसूस किया गया। उन्होंने कहा कि भूकंप से संपत्ति को किसी तरह के नुकसान या किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।जबकि इससे पहले जिले में करीब 40 मिनट तक छह बार भूकंप के झटके महसूस किये गये थे। पालघर वो इलाका है जहां पर अक्सर भूकंप के झटके देखने को मिलते हैं। हालांकि तीव्रता कम होने की वजह से किसी भी प्रकार का नुकसान अभी तक नहीं हुआ है।

इससे पहले कल उत्तराखंड में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। चमोली जिले में भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर इस भूकंप की तीव्रता 4.4 मापी गई। भूकंप का केंद्र जोशीमठ के पास 14 किलोमीटर की गहराई में था। इस भूकंप का असर चमोली जिले से सटे रुद्रप्रयाग और पौड़ी में भी महसूस किया गया।जिला आपदा प्रबंधन केंद्र के मुताबिक फिलहाल कहीं से नुकसान की सूचना नहीं है।

यह पढ़ें…दिल्ली के लकड़ी गोदाम में लगी आग, आग बुझाने की कोशिश में दमकल की 21 गाड़ियां

चमोली में यह भूकंप शाम 4 बजकर 56 मिनट पर आया। बारिश और बर्फबारी के बीच भूकंप के झटके से दहशत में लोग घरों से बाहर निकल आए। आपदा प्रबंधन अधिकारी नंद किशोर जोशी ने बताया कि भूकंप का केंद जोशीमठ के पास ढ़ाक मेरग गांव था।