दिल्ली के लकड़ी गोदाम में लगी आग, मौके पर दमकल की 21 गाड़ियां मौजूद

दिल्ली के अनाज मंडी के बाद अब मुंडका इलाके में एक लकड़ी के गोदाम में आग लगने का मामला सामने आया है। इसकी सूचना मिलने पर दमकल की 21 गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंच चुकी है।. आग बुझाने की कोशिश की जा रही है. बताया जा रहा है कि दमकल कर्मियों को आग बुझाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है।

Published by suman Published: December 14, 2019 | 7:58 am
Modified: December 14, 2019 | 8:44 am

नई दिल्ली: अनाज मंडी के आग से आहत लोगों का जख्म अभी भरा भी नहीं कि  दिल्ली के अनाज मंडी के बाद अब मुंडका इलाके में एक लकड़ी के गोदाम में आग लगने का मामला सामने आया है। इसकी सूचना मिलने पर दमकल की 21 गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंच चुकी है। आग बुझाने की कोशिश की जा रही है. बताया जा रहा है कि दमकल कर्मियों को आग बुझाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है।

यह पढ़ें…अब सीधे फांसी: रेप के आरोपियों की खैर नहीं, आ गया कानून

इससे पहले दिल्ली के रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी इलाके में एक चार मंजिला इमारत में भीषण आग लग गई थी, जिसमें 43 लोगों की मौत हो गई थी. इसके अलावा कई लोग आग में झुलस गए थे। जब यह आग लगी थी, उस समय वहां काम करने वाले मजदूर सो रहे थे।इस आग की चपेट  में आसपास की दो और इमारतें आ गई थीं। इस घटना के बाद भीड़भाड़ वाले इलाके में 200 वर्ग गज के क्षेत्र में बैग बनाने की फैक्टरी चलाने वाले रेहान के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल घटनास्थल पर पहुंचे थे। दिल्ली सरकार ने हादसे में मरने वाले के परिजनों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को एक-एक लाख रुपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया था. इसके अलावा पीएम मोदी ने मृतकों के परिवारों दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने का ऐलान किया था।

यह पढ़ें…गुस्से में बेटियां! बलात्कारियों के खिलाफ फांसी की मांग से गूंज उठा इटावा

इससे पहले पिछले हफ्ते दिल्ली के रानी झांसी मार्ग पर स्थित अनाज मंडी में आग लग गई थी जिसमें 43 लोगों की मौत हो गई थी। जबकि दो दर्जन से अधिक लोगों को बचाया भी गया था। अनजा मंडी इलाके में भी आग सुबह में ही लगी थी। उसके बाद से इस आग के कारणों को जानने के लिए जांच एजेंसी बैठी है। लेकिन अभी सप्ताह भी नहीं हुआ  कि दिल्ली के दूसरे इलाका आग की चपेट में आ गया।