ममता ने मोदी के ‘महापैकेज’ को बताया धोखा, राज्य के लिए किया ये बड़ा एलान

सीएम मंमता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आर्थिक पैकेज को जनता के साथ धोखा बताया। उन्होंने कहा लोगों को इस आर्थिक पैकेज से उम्मीदें थी लेकिन इसमें कुछ नहीं दिया गया।

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के सरकारी कर्मचारियों को लेकर बड़ा एलान किया है। आर्थिक राहत देते हुए उन्होंने कहा कि 10 लाख कर्मचारियों को 10 हजार रुपये का फेस्टिवल एडवांस दिया जाएगा। साथ ही राज्य में 34000 रुपये तक की सैलरी वाले कर्मचारी भी फेस्टिवल एडवांस लेने के लिए सक्षम होंगे। इसके अलावा उन्होंने मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज को छलावा बताया।

सीएम मंमता बनर्जी प्रधानमंत्री मोदी के आर्थिक पैकेज से नाखुश

कोरोना संकट को लेकर सीएम मंमता बनर्जी केंद्र से नाखुश चल रही हैं। वह कई बार केंद्र पर पक्षपात का आरोप लगा चुकी हैं। वहीं अब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आर्थिक पैकेज को जनता के साथ धोखा बताया। उन्होंने कहा कि लोगों को इस आर्थिक पैकेज से उम्मीदें थी लेकिन इसमें न तो किसानों, कर्मचारियों और राज्यों के कुछ नहीं दिया गया है।

कहा- किसानों का कर्ज माफ़ करना चाहिए

ममता ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह की तरह पीएम मोदी को भी किसानों का कर्ज माफ़ करना चाहिए था। लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। उन्होंने मोदी सरकार से सवाल किया कि आखिर राज्यों का खर्च कैसे चलेगा? उन्होने कहा कि लॉकडाउन के कारण आई आर्थिक तंगी के चलते राज्य सरकारें अपने कर्मचारियों को सैलरी नहीं दे पा रहीं हैं।

ये भी पढ़ेंः सितम्बर है खतरनाकः आधी से अधिक आबादी होगी संक्रमित! अभी से रहें सावधान

लॉकडाउन के बहाने राज्य सरकारों के अधिकारों का हनन

इसके अलावा उन्होंने मोदी सरकार पर कोरोना और लॉकडाउन के बहाने राज्य सरकारों के अधिकारो का हनन करने का आरोप भी लगाया। ममता ने कहा, इन दिनों राज्यों की आर्थिक स्थिति को कमजोर किया जा रहा है।

मोदी के आर्थिक पैकेज में राज्यों के लिए कुछ नहीं

केंद्र को अभिभावक और राज्यों को बच्चों का दर्जा देते हुए उन्होंने कहा, “माता-पिता बच्चों का पालन पोषण करते हैं, एक संघीय व्यवस्था में केंद्र राज्यों का अभिभावक है, उनकी जिम्मेदारी है कि वो राज्यों की देखभाल करें, लेकिन वे सिर्फ बीजेपी के बेवकूफ सेल (आईटी सेल) को सक्रिय कर रहे हैं, वे झूठी खबरें फैला रहे हैं ताकि साम्प्रदायिक दंगा फैलाया जा सके।”

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।