×

दिल्ली हिंसा पर 'रो पड़ीं' ममता, कविता पढ़ कहा कुछ ऐसा...

Ashiki

AshikiBy Ashiki

Published on 27 Feb 2020 7:01 AM GMT

दिल्ली हिंसा पर रो पड़ीं ममता, कविता पढ़ कहा कुछ ऐसा...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में फैली हिंसा को लेकर देश भर दुख और चिंता का माहौल है। इस बेकाबू हिंसा ने दिल्ली के कई घरों को बरबाद कर दिया। वहीँ कितनों को अपनी जान भी गवानी पड़ी। जिसे लेकर तमाम राजनीतिक दलों ने हिंसा का विरोध किया, साथ ही शांति बनाए रखने की अपील की।

इस बिच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को दिल्ली में हुई हिंसा की निंदा करते हुए एक बहुत ही भावुक कर देने वाली कविता लिखी। इस कविता के माध्यम से उन्होंने तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाओं का जवाब मांगा है।

इस हिंसा पर ममता बनर्जी ने 21 लाइन की कविता लिखी, जिसका शीर्षक 'नरक' है। ये कविता कई सवाल खड़े कर रही है। ममता की यह कविता अंग्रेजी, हिन्दी और बांग्ला भाषा में है। इस कविता में हुई हिंसा का उल्लेख किया है, जिसे लिखने के बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट भी किया है।

ये भी पढ़ें: दुनिया के नौवें और एशिया के सबसे अमीर भारतीय बने मुकेश अंबानी

"कहां हैं हम? किस ओर जा रहे हैं? स्वर्ग के परे नरक में!

कितने प्राण बिसर गए, फिर कभी न लौटेंगे अब।"

"देश का हिंसक हो जाना, क्या यह लोकतंत्र का अंत है?"

उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा और उपद्रव में मरने वालों की संख्या बढ़कर 34 तक पहुंच गई है। बकि 200 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिन्हें अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। जिसे लेकर गृहमंत्री अमित शाह समेत तमाम राजनितिक दलों ने बैठक की और शांति बनाये रखने की अपील भी की।

ये भी पढ़ें: लोन हुआ आसान: RBI ने दिया बड़ा तोहफा, दूर हुई आपकी समस्या

Ashiki

Ashiki

Next Story