महबूबा ने राजमार्ग प्रतिबंध नहीं मानने को कहा, केंद्र को फलस्तीन जैसे हालात को लेकर चेताया

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने लोगों से राजमार्ग पाबंदी नहीं मानने की बुधवार को अपील करते हुए केंद्र सरकार को जम्मू कश्मीर के साथ संबंधों को ‘‘इजराइल – फलस्तीन’’ जैसे संघर्ष में तब्दील किए जाने के खिलाफ आगाह किया।

Published by Anoop Ojha Published: April 10, 2019 | 8:15 pm
Modified: April 10, 2019 | 8:34 pm

महबूबा ने राजमार्ग प्रतिबंध नहीं मानने को कहा, केंद्र को फलस्तीन जैसे हालात को लेकर चेताया

श्रीनगर:  पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने लोगों से राजमार्ग पाबंदी नहीं मानने की बुधवार को अपील करते हुए केंद्र सरकार को जम्मू कश्मीर के साथ संबंधों को ‘‘इजराइल – फलस्तीन’’ जैसे संघर्ष में तब्दील किए जाने के खिलाफ आगाह किया।

महबूबा ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह (जम्मू कश्मीर का भारत संघ से संबंध) कोई इजराइल – फलस्तीन संबंध नहीं है। यदि भारत सरकार हमारे संबंध को फलस्तीन – इजराइल जैसा बनाना चाहती है, तो उन्हें फलस्तीन जैसे हालात के लिए भी तैयार रहना चाहिए।’’

यह भी पढ़ें…..देश में परिवर्तन लाने के लिए सरकार बदलना जरूरी: अखिलेश यादव

उन्होंने कहा कि राजमार्ग के इस्तेमाल पर लगाया गया प्रतिबंध जम्मू कश्मीर के लोगों का दमन करने की कोशिश है और यह राज्य की अर्थव्यवस्था और लोगों के मूल अधिकारों पर हमला है।

गौरतलब है कि राज्य के गृह सचिव शालीन काबरा द्वारा तीन अप्रैल को जारी एक आदेश के मुताबिक उत्तर कश्मीर में बारामुला से जम्मू क्षेत्र में उधमपुर तक असैन्य यातायात की आवाजाही की इजाजत 31 मई तक रविवार और बुधवार के दिनों में नहीं होगी।

यह भी पढ़ें…..कल सोनिया गांधी रायबरेली से करेंगी नामांकन, ये है पूरा कार्यक्रम

महबूबा और नेकां नेता फारूक अब्दुल्ला एवं उमर अब्दुल्ला के लोकसभा चुनाव लडने पर पाबंदी लगाने की मांग को लेकर दायर एक पीआईएल के बारे में पूछे जाने पर पीडीपी प्रमुख ने तंज किया, ‘‘यदि भाजपा अनुच्छेद 370 को रद्द कर देती है तो भारत का संविधान यहां लागू नहीं होगा और इसतरह, हम चुनाव लड़ने से अपने आप ही प्रतिबंधित हो जाएंगे, फिर उन्हें (भाजपा को) ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ’’

(भाषा)