महबूबा मुफ्ती ने बोला केंद्र पर हमला, कहा- महिलाओं से घबराती है मोदी सरकार

कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार पर जबरदस्त हमला बोला है। महबूबा ने अपनी नजरबंदी न समाप्त किए जाने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि लगता है कि मोदी सरकार महिलाओं से घबराती है।

श्रीनगर: कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार पर जबरदस्त हमला बोला है। महबूबा ने अपनी नजरबंदी न समाप्त किए जाने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि लगता है कि मोदी सरकार महिलाओं से घबराती है।

मोदी सरकार ने पिछले साल 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने का फैसला किया था। संसद को इस फैसले की जानकारी देने से पहले ही केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को नजरबंद कर दिया था।

इन तीन नेताओं में फारूक अब्दुल्ला, उनके बेटे उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती शामिल हैं। केंद्र सरकार ने फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला को रिहा कर दिया है जबकि महबूबा मुफ्ती अभी भी नजरबंद हैं।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को लेकर आई बड़ी खबर

उमर अब्दुल्ला को आज किया गया रिहा

फारूक अब्दुल्ला को तो कई दिनों पूर्व रिहा किया गया था मगर उनके बेटे और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को आज रिहा किया गया है।  उमर अब्दुल्ला को हिरासत में लेने के बाद उन पर पब्लिक सेफ्टी एक्ट भी लगा दिया गया था।

देश में कोरोना महामारी के बीच उन्हें रिहा करने का बड़ा फैसला लिया गया है।  उमर की रिहाई के लिए उनकी बहन सारा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दाखिल की थी।  सुप्रीम कोर्ट ने इस बाबत नोटिस जारी कर जवाब मांगा था।मामले की आगे सुनवाई से पहले ही केंद्र सरकार ने उन्हें रिहा कर दिया।

अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती को भारत का बंटवारा नहीं करने देंगे: मोदी

कई नेता अभी भी नजरबंद

फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला की रिहाई के बाद भी राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट की मुखिया महबूबा मुफ्ती नजरबंद हैं।

उमर की रिहाई के बाद महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार महिला उत्थान और महिला सशक्तिकरण की बात करती है मगर सच्चाई यह है कि वह महिलाओं से घबराती है।

महबूबा मुफ्ती ने अपने ट्वीट में सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि दो- दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को रिहा कर दिया गया है। मगर उनको अभी भी नजरबंद रखा गया है। मालूम हो कि महबूबा मुफ्ती ने पिछले विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा के साथ मिलकर राज्य में गठबंधन सरकार बनाई थी।

महबूबा मुफ्ती की बेटी ने उपराज्यपाल को लिखा पत्र

महबूबा मुफ्ती की बेटी ने हाल में जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल को पत्र लिखकर अपनी मां को जल्द से जल्द रिहा करने की मांग की है।

महबूबा की बेटी इल्तजा मुफ्ती ने पत्र में कहा है कि एक तरफ पूरा देश कोरोना के संकट से जूझ रहा है और दूसरी ओर उनकी मां को अभी तक बंद रखा गया है। उन्होंने कहा कि उनकी मां को जल्द से जल्द रिहा किया जाना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी के चलते कई राज्यों में कैदियों को पैरोल पर रिहा करने या अन्य विकल्पों के जरिए उन्हें जेल से बाहर लाने पर विचार किया जा रहा है।  महबूबा की बेटी ने कहा कि कोरोना संकट के चलते उनकी मां की भी रिहाई शीघ्र होनी चाहिए।

फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती कश्मीर के असली दुश्मन: शिवसेना