जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को लेकर आई बड़ी खबर

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती को चश्मे शाही से श्रीनगर में दूसरी जगह शिफ्ट किया गया है। महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा ने ठंड को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री को दूसरी जगह शिफ्ट करने की मांग की थी।

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती को चश्मे शाही से श्रीनगर में दूसरी जगह शिफ्ट किया गया है। महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा ने ठंड को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री को दूसरी जगह शिफ्ट करने की मांग की थी। इसके बाद महबूबा मुफ्ती को चश्मे शाही गेस्ट हाउस से लालचौक इलाके में शिफ्ट कर दिया गया है।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने इल्तिजा जावेद को अपनी मां महबूबा मुफ्ती से मिलने की इजाजत दी थी। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने इल्तिजा जावेद को इस शर्त पर श्रीनगर जाने की अनुमति दी थि कि उन्हें पहले संबंधित जिला अधिकारियों से इजाजत लेनी होगी।

यह भी पढ़ें…तो इमरान देंगे इस्तीफा! मौलाना का प्लान-B हुआ तैयार, पाक PM की टेंशन टाइट

इल्तिजा मुफ्ती ने कहा था कि मैंने अपनी मां के स्वास्थ्य को लेकर कई बार चिंता जाहिर की है। यहां तक कि जिला उपायुक्त श्रीनगर को एक महीने पहले पत्र भी लिखा था। इसके जरिए मैंने उनसे मां को सही स्थान पर स्थानांतरित करने की गुजारिश की थी, लेकिन कोई सुनवाई न हुई। इल्तिजा ने इसके आगे लिखा कि अगर मेरी मां को कुछ हुआ तो उसकी जिम्मेदार सरकार होगी।

यह भी पढ़ें…राफेल डील: राजनाथ ने कहा, कांग्रेस को माफ नहीं करेगा देश, इसलिए लगाए झूठे आरोप

अक्टूबर में महबूबा मुफ्ती से उनके भाई तसादुक मुफ्ती ने सरकारी गेस्ट हाउस में मुलाकात की थी। मुलाकात के दौरान क्या बात हुई इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई। महबूबा मुफ्ती गेस्ट हाउस में हिरासत में रखी गई हैं जो अब सब जेल बना दिया गया है।

यह भी पढ़ें…स्मृति ईरानी का दिखा नया रूप, तलवारबाजी करते देख दंग रह जाएंगे आप

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने यूरोपियन यूनियन(EU) के सांसदों के कश्मीर दौरे पर हमला बोला था। महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने अपनी मां के ट्विटर अकाउंट से तंज कस था। उन्होंने कहा था कि यूरोपीयन यूनियन के सांसदों की पिकनिक खत्म हो गई है। अब मैं अनुरोध करती हूं कि विपक्ष के राहुल गांधी, सीताराम येचुरी, शरद यादव, तेजस्वी यादव और यशवंत सिन्हा जैसे नेता घाटी का दौरा करें।