भाजपा विधायक पुलिस को इस तरह चकमा देकर भागा, महिलाओं ने किया विरोध

बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो के चिटाही स्थित आवास पर गुरुवार सुबह पुलिस ने छापेमारी की। हालांकि विधायक नहीं मिले। वे पुलिस के पहुंचने से पहले ही निकल गये।

Published by Deepak Raj Published: February 19, 2020 | 10:26 pm
Modified: February 20, 2020 | 8:45 am

रांची। बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो के चिटाही स्थित आवास पर गुरुवार सुबह पुलिस ने छापेमारी की। हालांकि विधायक नहीं मिले। वे पुलिस के पहुंचने से पहले ही निकल गये। पुलिस ने विधायक के चार समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया।

ये भी पढ़ें-भाजपा सरकारें केवल लोगों को लड़ाने का काम कर रही है: शरद पवार

आरोप के मुताबिक बीजेपी विधायक ने रामराज मंदिर की यज्ञशाला बनवाने के लिए सुरेश महतो नामक शख्स की जमीन पर जबरन कब्जा कर लिया। विरोध करने पर उसके साथ मारपीट भी की। इस मामले में आठ महीने पहले सुरेश महतो ने विधायक पर मामला दर्ज कराया था। अब कोर्ट से वारंट जारी होने के बाद पुलिस ने गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की।

चार समर्थकों को किया गिरफ्तार

छापेमारी में कई थानों की पुलिस शामिल हुई। लेकिन विधायक हाथ नहीं लगे। हालांकि पुलिस ने कार्रवाई का विरोध कर रहे भाजयुमो के कतरास मंडल अध्यक्ष धर्मेंद्र गुप्ता, अजय गोराई, बिट्टू सिंह और डंपी मंडल को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को महिलाओं के विरोध का सामना करना पड़ा। महिलाएं हाथ में झाड़ू लेकर पुलिस के सामने खड़ी हो गईं।


विधायक की पत्नी सावित्री देवी ने बताया कि विधायक की तबीयत खराब है, इसलिए वे मंगलवार रात को ही घर से बाहर निकल गए। विधायक की पत्नी ने पुलिस पर उनके साथ दुर्व्यवहार करने का भी आरोप लगाया। उनकी माने तो पुलिस की ये कार्रवाई कांग्रेस नेता जलेश्वर महतो, ओपी लाल, विजय झा सहित अन्य नेताओं की साजिश का नतीजा है।

दो दिन पहले दर्ज हुआ रंगदारी का केस

बता दें कि दो दिन पहले विधायक ढुल्लू महतो पर डेढ़ साल पुराने एक मामले में रंगदारी का केस धनबाद नगर थाने में दर्ज हुआ। आरोप के मुताबिक बीसीसीएल की ओरिएंटल कंपनी के तत्कालीन मैनेजर मुकेश चंदानी से 14 जून 2018 को विधायक ढुल्लू महतो ने धनबाद परिसदन में 10 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी थी।

और इसको लेकर मैनेजर मुकेश चंदानी ने विधायक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। लेकिन पिछली सरकार में पुलिस ने इस मामले को दबा दिया था। दरअसल विधायक ढुल्लू महतो पूर्व सीएम रघुवर दास के करीबी माने जाते हैं।