×

मोहना सिंह ने रचा इतिहास, बनीं हॉक जेट उड़ाने वाली पहली महिला पायलट

महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से कम नहीं है। फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहना सिंह ने इसे एक बार फिर साबित कर दिखाया है। मोहाना अब फ्लाई हॉक जेट उड़ाने वाली पहली महिला फाइटर जेट पायलट बन गई हैं।

Dharmendra kumar
Published on: 1 Jun 2019 7:56 AM GMT
मोहना सिंह ने रचा इतिहास, बनीं हॉक जेट उड़ाने वाली पहली महिला पायलट
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से कम नहीं है। फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहना सिंह ने इसे एक बार फिर साबित कर दिखाया है। मोहाना अब फ्लाई हॉक जेट उड़ाने वाली पहली महिला फाइटर जेट पायलट बन गई हैं। फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहना सिंह भारतीय वायुसेना की पहली महिला लड़ाकू पायलट बन गयी हैं जो दिन में हॉक एडवांस जेट से मिशन को अंजाम देने के काबिल हैं। एयरफोर्स के मुताबिक, मोहना अब पूरी तरह से तैयार है।

यह भी पढ़ें...गृह मंत्री अमित शाह ने संभाला कार्यभार, हुआ जोरदार स्वागत

एक आधिकारिक बयान में शुक्रवार को यह जानकारी दी गई। बयान में कहा गया है कि पश्चिम बंगाल के कलाईकुंडा एयरफोर्स स्टेशन पर मोहना ने लड़ाकू विमान हॉक जेट को सफलतापूर्वक लैंड कराया। यह सफलता भारतीय वायुसेना के इतिहास में एक नए अध्याय के रूप में जुड़ गया।

फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहना की ट्रेनिंग में हवा से हवा में मार करना और हवा से जमीन पर कार्रवाई करना दोनों शामिल था। मोहना की ट्रेनिंग में कई सारे युद्धाभ्यास शामिल किए गए थे। इनमें रॉकेट की फायरिंग, गन और अधिक क्षमता वाले बम गिराना भी शामिल किया गया था। इसके अलावा कई एयरफोर्स स्तर के फ्लाइंग एक्सरसाइज कराए गए। मोहना सिंह को 500 घंटों से अधिक की उड़ान का अनुभव प्राप्त है। इसमें 380 घंटे तो सिर्फ Hawk Mk 132 जेट उड़ाने का अनुभव है।

यह भी पढ़ें...बैंकाक में हुई सामूहिक बैठक, भारत, अमेरिका, जापान और आस्ट्रेलिया जैसे देश शामिल

इससे पहले फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ ने इतिहास रचते हुए युद्ध में शामिल होने की योग्यता हासिल करने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बनी थीं। 22 मई को फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ ने मिग-21 बाइसन को उड़ाकर दिन के समय में फाइटर जेट उड़ाने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बनी थीं।

मोहना समेत अन्य दो महिलाओं भावना कंठ और अवनी चतुर्वेदी को जून 2016 में लड़ाकू पायलट प्रशिक्षण के लिए चुना गया था।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story