नवरात्र में इस मंदिर में होंगे मां दुर्गा के ‘स्वर्णिम दर्शन’ जानें इससे जुड़ी खास बातें

इस नवरात्र पर माता वैष्णो देवी मंदिर की शोभा कई गुना बढ़ जाएगी। 29 अक्टूबर से शुरू होने वाली नवरात्र के दौरान वैष्णो देवी मंदिर की गुफा में सोने का दरवाजा लगवाया जाएगा।

जम्मू: इस नवरात्र पर माता वैष्णो देवी मंदिर की शोभा कई गुना बढ़ जाएगी। 29 अक्टूबर से शुरू होने वाली नवरात्र के दौरान वैष्णो देवी मंदिर की गुफा में सोने का दरवाजा लगवाया जाएगा।

इससे पहले यहाँ संगमरमर (मार्बल) के बने द्वार थे। श्राइन बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि इस साल नवरात्रि में मंदिर में प्रवेश पर एक ‘स्वर्ण द्वार’ का निर्माण किया जा रहा है। इस स्वर्ण दरवाजे के साथ ही सुसज्जित रास्ते, यहाँ आने वाले श्रद्दालुओं के लिए आकर्षण का केन्द्र होंगे।

यह पारंपरिक गुफा सिर्फ सर्दियों में कुछ दिनों के लिए ही श्रद्धालुओं के लिए खोली जाती है। हालांकि हर दिन पुजारी आरती के लिए इसी पारंपरिक गुफा वाले दरवाजे का इस्तेमाल करते हैं। सोने के इस नए दरवाजे के एक पल्ले पर माता लक्ष्मी और दूसरे पर आरती उकेरी गई है।

ये भी पढ़ें…चैत्र नवरात्र में है अभी कुछ दिन शेष,नवग्रह की शांति के लिए उत्तम है ये दिन

 

जानें मंदिर की खास बातें

इसके अलावा इस पर भगवान गणपति की तस्वीर और मंत्र हैं। दरवाजे के ऊपरी हिस्से में गुंबद और छत्र हैं, जिस पर नौ सीढ़ियां बनाई गई हैं जो नौ देवियों का प्रतीक हैं। श्राइन बोर्ड के सीईओ सिमरनदीप सिंह के मुताबिक सोने के इस दरवाजे को श्राइन बोर्ड की नई डोनेशन पॉलिसी के तहत बनवाया गया है।

नवरात्र के लिए माता के भवन को थाईलैंड, हॉलैंड, मलेशिया, सिंगापुर, ऊंटी और पालमपुर से मंगवाए देसी-विदेशी फूलों और फलों से सजाया जाएगा। यहीं नहीं पहली बार कटरा बेस कैंप से भवन तक के 13 किमी लंबे घुमावदार रास्ते पर रंगबिरंगी लाइटिंग की जा रही है। इसके अलावा पिछले साल कटरा में शुरू हुए लंगर में नवरात्र के दौरान फलाहार दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें…ऐसे हुआ मां के शैल रुप का जन्म, नवरात्रि के पहले दिन इनकी ही होती है पूजा

इस नवरात्र फेस्टिवल के दौरान नौ दिनों तक अलग-अलग कार्यक्रम होंगे और राज्यपाल सत्यपाल मलिक इसका उद्घाटन करेंगे। हर बार की तरह ही नवरात्र के मशहूर दंगल का आयोजन होगा। 2005 से 2012 तक पाकिस्तान के पहलवान भी इस दंगल में भाग लेने आते थे।

भारत-पाक के बीच तनाव के चलते 2013 से इन्हें बुलाना बंद कर दिया गया है और इस बार भी पाकिस्तानी पहलवान नहीं आएंगे। कटरा में इस फेस्टिवल का आयोजन 1996 से हो रहा है।

दर्शनार्थियों की सुरक्षा के मद्देनजर राज्य पुलिस ने पैरामिलिट्री के साथ मिलकर खास ग्रिड तैयार किया है। पुलिस और सुरक्षा बलों की तैनाती के अलावा कटरा टाउन, भवन के इलाके और यात्रा मार्ग को सीसीटीवी कैमरे की जद में लाया जा रहा है। उम्मीद की जा रही है कि इस बार इन नौ दिनों में 3-4 लाख श्रद्धालु वैष्णो देवी के दर्शन करने आएंगे।

दिल्ली, यूपी और हैदराबाद के कारीगरों ने 3 महीने में बनाया गेट

श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के सीईओ सिमरनदीप सिंह ने बताया कि दरबार में स्थापित किया जा रहा गोल्डन गेट आकर्षण का केंद्र रहेगा। देशभर के धार्मिक स्थलों में ऐसे गेटों का निर्माण कर चुके दिल्ली, यूपी और हैदराबाद के कारीगारों ने इसे तैयार किया है। इसमें निर्माण में इच्छुक दानियों ने सहयोग दिया है। बोर्ड ने गेट के निर्माण के लिए इच्छुक दानियों का सहयोग मांगा था, जिसमें भारी समर्थन मिला है।

नवरात्र में दर्शनार्थी

2017 3.02 लाख
2018 3.18 लाख
2019 4 लाख (अनुमान)

ये भी पढ़ें…नवरात्र से चलेगी दिल्ली – कटरा वंदे भारत ट्रेन, गृहमंत्री अमित शाह दिखाएंगे हरी झंडी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App