पालघर हत्याकांड: पुलिस के बचाव में उतरे शरद पवार, साधुओं की लिंचिंग को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

महाराष्ट्र के पालघर मॉब लिंचिंग मामले ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। यहां जूना अखाड़े के दो साधुओं समेत तीन लोगों की पीट-पीटकर निर्मम हत्या कर दी गई थी।

मुंबई: महाराष्ट्र के पालघर मॉब लिंचिंग मामले ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। यहां जूना अखाड़े के दो साधुओं समेत तीन लोगों की पीट-पीटकर निर्मम हत्या कर दी गई थी। इस मामले पर संत समाज के साथ-साथ कई राजनेता ने भी क्रोध व्यक्त किया। इस बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने पालघर में साधुओं की लिंचिंग को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। इसके साथ ही पवार ने पुलिस का भी बचाव किया और कहा कि गलतफहमी से हुई वारदात का मतलब ये नहीं कि राज्य में कानून व्यवस्था ठीक नहीं है।

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन में ढिलाई पर बेपरवाह हुए लोग, 500 से ज्यादा पर दर्ज हुआ मुकदमा

शरद पवार ने मंगलवार को कहा कि पालघर में जो कुछ भी हुआ नहीं होना चाहिए था। ये बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है। पुलिस ने इस मामले पर तेजी से कार्रवाई की और एक ही रात में घटना में शामिल 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है। आगे की जांच चल रही है।

 

कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाना सही नहीं

पावर ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस घटना के बारे में बात की और इस मामले के संदर्भ में जो कुछ कर सकते हैं कर रहे हैं। ये घटना अफवाहों के कारण होने के बाद भी कुछ लोग इस घटना की वजह से राज्य की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं। ये ठीक नहीं है।

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन में ढिलाई पर बेपरवाह हुए लोग, 500 से ज्यादा पर दर्ज हुआ मुकदमा

110 लोग हुए गिरफ्तार

महाराष्ट्र के पालघर में भीड़ ने दो साधुओं समेत तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी। इस घटना को लेकर पूरे देश में आक्रोश है। इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद 110 लोगों की गिरफ्तार किया गया है जिसमें 101 को 30 अप्रैल तक के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है। 9 नाबालिग हैं, उन्हें जुवेनाइल शेल्टर होम में भेजा गया है।

ये भी पढ़ें: कोरोना अपडेट: अबतक कुल मामले – 18985, मौतें – 603, ठीक हुए – 3260

गृहमंत्री ने कहा उच्चस्तरीय जांच होगी

महराष्ट्र की राजनीति में इस मामले के तूल पकड़े जाने के बाद स्वयं गृह मंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट करके कहा है कि पालघर वाले मामले में हमने 110 लोगों को पुलिस हिरासत में लिया है। और इस मामले की उच्च स्तरीय जांच के भी आदेश दे दिए गए हैं। वह कहते हैं कि इस घटना को विवादास्पद बनाकर समाज में जो भी दरार डालने की कोशिश करेगा पुलिस उसके खिलाफ भी सख्त कार्यवाही करेगी।

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन में ढिलाई पर बेपरवाह हुए लोग, 500 से ज्यादा पर दर्ज हुआ मुकदमा

लॉकडाउन के दौरान अपने काम को पूरा करते डायल-112 के पुलिसकर्मी, देखें तस्वीरें

मध्य प्रदेश- कोरोना वायरस के 67 नए केस, राज्य में मरीजों की संख्या हुई 1552

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App