चीन ने LAC पर लगाया लाउडस्पीकर, सीमा पर बजा रहा पंजाबी गाने, जाने क्यों…

अब नया पैंतरा बनाते हुए चीन की सेना ने फॉरवर्ड पोस्ट पर बड़े-बड़े लाउडस्पीकर लगाए हैं जिन पर पंजाबी गाने बजाए जा रहे हैं।

Published by Aradhya Tripathi Published: September 17, 2020 | 10:08 am
China Army

17 नवंबर से आर-पार की लड़ाई, अरब सागर में इन देशों की सेनाएं होंगी आमने-सामने(फोटो:सोशल मीडिया)

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली: लद्दाख में भारत के साथ पिछले कई महीनों से सैन्य विवाद में उलझा चीन रोज नई शरारतें कर रहा है। घुसपैठ की कई कोशिशें नाकाम होने और पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के इर्द-गिर्द ऊंचाई वाले स्थानों पर भारतीय जवानों के कब्जे से चीन बौखला गया है। अब नया पैंतरा बनाते हुए चीन की सेना ने फॉरवर्ड पोस्ट पर बड़े-बड़े लाउडस्पीकर लगाए हैं जिन पर पंजाबी गाने बजाए जा रहे हैं। इसके साथ ही जवानों को सरकार के खिलाफ भड़काने और उनका मनोबल तोड़ने की भी कोशिश की जा रही है। जानकारों का कहना है कि अपनी कोशिशें नाकाम होने से बौखलाए चीन ने भारतीय जवानों का ध्यान भटकाने के लिए यह नई चाल चली है। चीन ने 1962 की युद्ध के दौरान भी यह रणनीति अपनाई थी।

लाउडस्पीकर पर बजाए जा रहे पंजाबी गाने

चीन की सेना की ओर से फिंगर 4 की फ्रंट चौकियों पर बड़े-बड़े लाउडस्पीकर लगाकर पंजाबी गाने बजाए जा रहे हैं। ये चोटियां भारतीय सेना के जवानों की तैनाती स्थल से ज्यादा दूर नहीं है और भारतीय सेना लगातार चीनी सेना की निगरानी में जुटी हुई है। जानकार सूत्रों का कहना है कि भारतीय जवानों की सतर्कता और लगातार निगरानी से चीनी सेना परेशान हो चुकी है और इसी कारण उसकी ओर से यह नया पैंतरा अपनाया गया है। माना जा रहा है कि भारतीय जवानों का ध्यान भटकाने की नीयत से यह कदम उठाया गया है।

ये भी पढ़ें-   J-K: पाकिस्तान ने LoC पर पुंछ जिले में फायरिंग की, सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

China Army
जमाने को इस तरह भड़का रहा चीन (फाइल फोटो)

इसी स्थान पर करीब एक सप्ताह पहले दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने आ गई थीं और दोनों सेनाओं के बीच करीब 100 राउंड फायरिंग भी हुई थी। जानकार सूत्रों का कहना है कि 1962 की लड़ाई के दौरान भी चीन की ओर से यह रणनीति अपनाई जा चुकी है। दरअसल युद्ध में नाकाम रहने के बाद चीनी सेना और चीन सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स की ओर से भारतीय सैनिकों के खिलाफ मनोवैज्ञानिक लड़ाई लड़ी जा रही है। घुसपैठ की कोशिशें लगातार नाकाम होने के बाद चीनी सेना की ओर से नई रणनीति पर अमल किया गया है और पैंगोंग झील के फिंगर चार पर पंजाबी गाने बजाए जा रहे हैं।

मंसूबे विफल होने से बौखलाया चीन

China Army
जमाने को इस तरह भड़का रहा चीन (फाइल फोटो)

दरअसल चीन की सेना की ओर से अगस्त के आखिर में पैंगोंग झील के दक्षिणी तट पर कब्जे की कोशिश की गई थी। मगर भारतीय सेना ने रेजांग ला और रेचिन ला इलाकों में चीनी मंसूबों को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया था। अपने अभियान की विफलता से बौखलाई चीनी सेना की ओर से उसके बाद टैंकों और बख्तरबंद वाहनों की तैनाती की गई थी।

ये भी पढ़ें-   शेयर बाजार में सुस्ती, शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक तक लुढ़का

चीनी सेना को उम्मीद थी कि उसकी गीदड़भभकियों से डर कर भारतीय जवान पीछे हट जाएंगे। मगर भारतीय जवानों ने इलाके की महत्वपूर्ण चोटियां पर चीनी साजिशों को नाकाम करते हुए कब्जा कर लिया है। भारतीय सेना की ओर से साफ कर दिया गया है कि अगर चीन ने इस इलाके में कोई शरारत करने की कोशिश की तो भारतीय सेना की ओर से मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

सरकार के खिलाफ भड़काने की साजिश

China Army
जमाने को इस तरह भड़का रहा चीन (फाइल फोटो)

सूत्रों के मुताबिक फिंगर इलाके के साथ ही चूसूल में चीनी सेना की मोल्डो सैन्य चौकी पर भी लाउडस्पीकर लगाए गए हैं। लाउडस्पीकर के जरिए भारतीय जवानों को अपने राजनीतिक नेताओं के हाथों मूर्ख न बनने की सलाह दी जा रही है।

ये भी पढ़ें-   जम्मू-कश्मीरः श्रीनगर में एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकी किए ढेर

जानकार सूत्रों का कहना है कि चीनी सेना ने अपनी तमाम कोशिशों में विफल होने के बाद अब भारतीय जवानों को भड़काने की मुहिम शुरू की है। लद्दाख में बढ़ती ठंड के बावजूद भारतीय जवानों के हौसले से घबराई चीनी सेना की ओर से अब यह नया पैंतरा खेला जा रहा है।

चीन इस कारण बजा रहा पंजाबी गाने

सैन्य मामलों के जानकार का कहना है कि चीनी सेना ने 1962 की लड़ाई के दौरान भी इसी तरह की लाउडस्पीकर रणनीति अपनाई थी। 1967 में नाथू ला झड़प के दौरान भी चीन की ओर से इस रणनीति पर काम किया गया था। उन्होंने बताया चीन का मानना है कि फिंगर 4 इलाके में भारत की ओर से पंजाबी सैनिकों की तैनाती की गई है और यही कारण है कि चीनी सेना की ओर से पंजाबी गाने बजाए जा रहे हैं।

बातचीत की तारीख तय करने में आनाकानी

China Army
जमाने को इस तरह भड़का रहा चीन (फाइल फोटो)

दोनों देशों के बीच पिछले 4 महीने से चल रहे विवाद के समाधान के लिए शीर्ष स्तर पर बातचीत के बावजूद चीन लगातार चालबाजी दिखा रहा है। विवाद सुलझाने के लिए सैन्य कमांडरों की बातचीत की तारीख तय करने में चीन की ओर से लगातार आनाकानी की जा रही है।

ये भी पढ़ें-   Live: मॉनसून सत्र का चौथा दिन, राज्यसभा की कार्यवाही शुरु, राजनाथ सिंह देंगे बयान

इस कारण भारतीय सेना की ओर से एलएसी के साथ ही पाकिस्तानी सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है। भारतीय सेना की ओर से पूर्वी लद्दाख में बोफोर्स तोप तैनात करने की कवायद भी शुरू कर दी गई है। दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की मास्को में हुई बातचीत में बनी सहमति के बावजूद चीन की ओर से सैन्य कमांडरों की बातचीत की तारीख नहीं तय की जा रही है।

20 दिनों में हो चुकी है तीन बार फायरिंग

China Army
जमाने को इस तरह भड़का रहा चीन (फाइल फोटो)

ये भी पढ़ें-   दुनियाभर में अब तक 29,760,579 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित

जानकारों का कहना है कि इलाके की महत्वपूर्ण चोटियों पर भारतीय सेना की मजबूत स्थिति को देखते हुए चीन बौखला गया है। दोनों देशों के बीच शीर्ष स्तर पर जारी बातचीत के बावजूद पिछले 20 दिनों के दौरान पूर्वी लद्दाख में दोनों सेनाओं के बीच कम से कम तीन बार फायरिंग की घटनाएं हो चुकी हैं। इससे पहले 45 वर्ष के दौरान दोनों पक्षों के बीच एक बार भी गोली नहीं चली थी।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App