जेएनयू के VC का बयान-छात्रों ने उन पर किया हमला, सुरक्षाकर्मियों ने बचाया

जेएनयू में फीस वृद्धि को लेकर छात्रों के संघर्ष के बीच बड़ी खबर है। जेएनयू के कुलपति पर छात्रों ने हमला किया है, ऐसा खुद कुलपति एम जगदीश कुमार ने बताया है। एक खबर के मुताबिक, जेएनूयू के कुलपति एम. जगदीश कुमार ने कहा कि- आज शनिवार को परिसर में कुछ छात्रों ने उन पर हमला किया।

Published by suman Published: December 14, 2019 | 8:52 pm

नई दिल्ली: जेएनयू में फीस वृद्धि को लेकर छात्रों के संघर्ष के बीच बड़ी खबर है। जेएनयू के कुलपति पर छात्रों ने हमला किया है, ऐसा खुद कुलपति एम जगदीश कुमार ने बताया है। एक खबर के मुताबिक, जेएनूयू के कुलपति एम. जगदीश कुमार ने कहा कि- आज शनिवार को परिसर में कुछ छात्रों ने उन पर हमला किया। उन्होंने कहा कि, ‘मैं स्कूल ऑफ आर्ट्स एंड एस्थेटिक्स, जेएनयू का दौरा करने गया था, जहां लगभग 10-15 छात्रों ने  घेर लिया था। वे मुझ पर हमला करने के मूड में थे और मुझे खींचकर नीचे गिराने की कोशिश कर रहे थे। सौभाग्य से, सुरक्षाकर्मियों ने मुझे उनसे बचाया।’

यह पढ़ें…सरकार कर्मचारियों से जबरदस्ती चंदा लेगी क्या? यहां जानें क्या है पूरा मामला

खबर है कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के छात्र नए हॉस्टल मैनुअल (Hostel Manual) के खिलाफ पिछले कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं. उनकी मांग है कि नए मैनुअल में बढ़ाए गए फीस को वापस लिया जाए. इसी को लेकर विश्वविद्यालय (University) के छात्रों ने संसद भवन तक मार्च करने का ऐलान किया था. छात्रों का आरोप है कि जब वे संसद भवन तक मार्च करने जा रहे थे तो दिल्ली पुलिस (Delhi Police) उनके साथ बर्बरता से पेश आई थी. आरोप है कि पुलिस ने कई छात्रों को बुरी तरह से पीटा था. अब इन छात्रों को शिवसेना (Shiv Sena) का भी साथ मिल गया है. शिवसेना ने छात्रों पर हुए लाठीचार्ज को अमानवीय करार दिया है और कहा है कि दिल्ली में कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है. जेएनयू के छात्रों का कहना है कि वह करीब एक महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन अभी तक नई छात्रावास नियमावली वापस नहीं की गई. छात्रों ने बताया कि उनकी पढ़ाई का नुकसान हो रहा है और इसके लिए यूनिवर्सिटी प्रशासन जिम्मेदार है. छात्रों ने कुलपति एम. जगदीश कुमार को हटाने और सेमेस्टर बढ़ाने की भी मांग की है।

यह पढ़ें… देश विरोधी मानसिकता वाले कर रहे नागरिकता कानून का विरोध

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App