जान लें ये नियम: आज से शुरू हो रहीं 200 ट्रेनें, सफ़र के लिए लोग तैयार

भारत सरकार द्वारा आज से छूट देते हुए 200 और ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया गया है। लेकिन इनके लिए सरकार ने कुछ नई गाइडलाइन जारी की है।

नई दिल्ली:   भारत में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या निरंतर बढ़ रही है। दूसरी ओर भारत सरकार द्वारा अब लोगों पर पाबंदियां कम होनी शुरू हो गईं हैं। यानी कि लॉकडाउन 4.0 31 मई को ख़तम होने के बाद अब देश में आज यानी 1 जून से अनलॉक 1.0 शुरू हो गया है। इसमें हर जगह अब धीरे धीरे पाबंदियों को कम किया जा रहा है। सबसे बड़ी छूट ये मिल रही है कि अब श्रमिक ट्रेनों के अतिरिक्त देश में 200 और ट्रेनें आज से चलाई जा रही हैं। राजधानी स्थित पांच रेलवे स्टेशनों से 36 ट्रेनें रवाना व समाप्त होंगी। लेकिन इन ट्रेनों पर सफर करने के लिए आपको कुछ नियमों का पालन करना होगा।

प्लेट फॉर्म पर पहुँचने से पहले ही हो जायेगी टिकट जांच

देश में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के बीच भारत सरकार द्वारा आज से छूट देते हुए 200 और ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया गया है। लेकिन इनके लिए सरकार ने कुछ नई गाइडलाइन जारी की है। इन नई ट्रेनों के लिए नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, हजरत निजामुद्दीन, आनंद विहार टर्मिनल और सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशन पर शारीरिक दूरी का पालन कराने और सुरक्षित सफर की तैयारी को अंतिम रूप दिया जा रहा है। यात्रियों को निर्धारित गाइड लाइन के अनुसार सफर करना होगा। रेलवे स्टेशनों पर कुली भी उपलब्ध होंगे और वेटिंग रूम भी खुले रहेंगे। लेकिन अब नई गाइडलाइन अनुसार वेटिंग रूम या फिर प्लेटफॅार्म पर पहले की तरह यात्री अब कहीं पर भी नहीं बैठ सकते हैं। उन्हें अब निर्धारित स्थान पर ही बैठना होगा। साथ ही सिर्फ वैध टिकट वालों को ही स्टेशन में जाने की अनुमति होगी।

ये भी पढ़ें-     नेपाल ने भारत को दिया तगड़ा झटका, सील की सीमाएं, इन रास्तों पर तैनात की फोर्स

इस तरह से टिकट की जांच प्लेटफॅार्म पर पहुंचने से पहले हो जाएगी। इस नई गाइडलाइन के साथ यात्रियों के रेलवे स्टेशनों पर प्रवेश और बाहर निकलने के रास्ते भी अलग-अलग निर्धारित किए गए हैं। जिसके तहत अब नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहाड़गंज व अजमेरी गेट दोनों तरफ से यात्री प्रवेश व बाहर निकल सकेंगे। भीड़ न हो इसके लिए ज्यादातर गेट खोलने का फैसला किया गया है। वहीं पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर चांदनी चौक की ओर से मुख्य इमारत के रास्ते यात्रियों को प्लेटफॅार्म पर जाने व बाहर निकलने की व्यवस्था की गई है। हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पर सिर्फ भोगल की ओर से यात्री स्टेशन परिसर में प्रवेश व बाहर निकल सकेंगे। सराय काले खां की ओर से स्टेशन परिसर में आने या बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। तो आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर आनंद विहार टर्मिनल व सराय रोहिल्ला में सिर्फ मुख्य इमारत की ओर से प्लेटफॅार्म पर जाने का रास्ता है।

यात्रा के दौरान इन नियमों का करना होगा पालन

सिर्फ कन्फर्म व आरएसी टिकट वाले यात्रियों को स्टेशन परिसर में जाने की मिलेगी अनुमति।
यात्री को ट्रेन के प्रस्थान समय से 90 मिनट पहले पहुंचना होगा।
प्लेटफॉर्म पर जाने से पहले यात्री की थर्मल स्क्री¨नग और टिकट की जांच की जाएगी।
सिर्फ स्वस्थ व्यक्ति ही यात्रा कर सकेंगे।
कन्फर्म टिकट होने के बावजूद अस्वस्थ पाए जाने पर यात्रा करने से रोक दिया जाएगा। इस स्थिति में पूरा किराया वापस किया जाएगा।
सभी यात्रियों को अपने फोन में आरोग्य सेतु डाउनलोड करने की सलाह दी गई है।
प्लेटफॅार्म टिकट की बिक्री नहीं होगी।

ये भी पढ़ें-    केजरीवाल सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे बीजेपी नेता मनोज तिवारी लिए गए हिरासत में

यात्री के साथ किसी अन्य को प्लेटफॅार्म पर जाने की अनुमति नहीं होगी।
तत्काल आरक्षण के काउंटर खुले रहेंगे।
अनारक्षित टिकट जारी नहीं होगा।जनरल कोच में भी बैठने के लिए आरक्षित टिकट लेना पड़ेगा।
ट्रेन के रवाना होने से चार घंटे पहले पहला चार्ट तैयार होगा।
दूसरा चार्ट दो घंटे पहले बनेगा। पहला चार्ट बनने के बाद भी खाली सीट की बुकिंग ऑनलाइन होगी।
यात्री को स्टेशन से लेकर ट्रेन में सफर के दौरान फेस मास्क लगाना अनिवार्य होगा।
शारीरिक दूरी का भी पालन करना होगा।
वातानुकूलित कोच में पर्दे नहीं लगाए जाएंगे न ही यात्री को चादर तकिया व तौलिया दिया जाएगा।
यात्रियों को सफर के समय भोजन और पानी साथ लेकर चलने की सलाह दी गई है।

ये भी पढ़ें-    राजधानी लखनऊ में मिला बच्ची का शव, नाका थाने का मामला

भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) कुछ ट्रेनों में पैक्ड खाद्य सामग्री व पेयजल भुगतान के आधार पर उपलब्ध कराएगा।
गंतव्य स्थल पर पहुंचने के बाद यात्रियों को वहां की राज्य सरकार या केंद्र शासित प्रदेश द्वारा बनाए गए स्वास्थ्य प्रोटोकॅाल का पालन करना होगा।
यदि किसी एक पीएनआर नंबर पर एक से ज्यादा यात्रियों का टिकट है और किसी एक का टिकट भी कन्फर्म है तो सभी लोगों को सफर करने की अनुमति दी जाएगी।