×

तगड़ा झटका: पेट्रोल के दामों में हो सकता है 20 से 30 रुपए का उछाल

अब पेट्रोल-डीजल के ग्राहकों के लिए बुरी खबर व अच्छी खबर आ रही है। जहां एक तरफ ग्राहकों को बिना किसी मिलावट के पेट्रोल-डीजल मिलेगा तो वहीं इसकी वजह से इनके रेट्स भी काफी हाई हो जाएंगे।

Roshni Khan
Updated on: 29 Feb 2020 6:19 AM GMT
तगड़ा झटका: पेट्रोल के दामों में हो सकता है 20 से 30 रुपए का उछाल
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मुंबई: अब पेट्रोल-डीजल के ग्राहकों के लिए बुरी खबर व अच्छी खबर आ रही है। जहां एक तरफ ग्राहकों को बिना किसी मिलावट के पेट्रोल-डीजल मिलेगा तो वहीं इसकी वजह से इनके रेट्स भी काफी हाई हो जाएंगे। अब उन्हें बिना की मिलावट का पेट्रोल मिलेगा, इस बात की जानकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने शुक्रवार को कहा कि, अब वो BS-VI ईंधन सप्लाई के लिए पूरी तरह से तैयार हो चुकी है। आगामी 1 अप्रैल 2020 से देशभर में BS-VI ईंधन का यूज़ लागू हो जाएगा। IOCL ने बताया कि इसके साथ ही ग्राहकों को BS-VI ईंधन के लिए थोड़ा अधिक रिटेल प्राइस चुकाना होगा।

ये भी पढ़ें:दिल्ली जैसी हिंसा यहां भी: एक की मौत के बाद लगा कर्फ्यू, इंटरनेट सेवायें ठप्प

सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल का रेट

ऑयल मार्केट कंपनी ने शनिवार के दिन पेट्रोल को 7 पैसे प्रति लीटर सस्ता किया है तो वही डीजल की कीमत में 9 पैसे प्रति लीटर की गिरावट आई है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में गिरावट के बाद अब तमाम राज्यों में इनकी कीमतों में भी भारी बदलाव हुआ। शनिवार को दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई में पेट्रोल की कीमतें 7 पैसे प्रति लीटर सस्ती हुई है। तो वही मुंबई में 6 पैसे प्रति लीटर पेट्रोल सस्ता हुआ। इसके अलावा डीजल की कीमतों में तमाम राज्यों में 9 पैसे प्रति लीटर की गिरावट दर्ज की गई।

IOCL ने खर्च किए 17 हजार करोड़ रुपये

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने अपनी रिफाइनरी को अपग्रेड करने के लिए 17,000 करोड़ रुपये खर्च किया है ताकि बेहद कम मात्रा में सल्फर उत्सर्जित करने वाला डीजल व पेट्रोल तैयार किया जा सके। ये जानकारी कंपनी के चेयरमैन संजीव सिंह ने शुक्रवार को दी।

ग्राहकों पर नहीं डालेंगे ज्यादा बोझ

उन्होंने अभी तक ये साफ नहीं किया कि BS-VI ईंधन की क्या कीमत होगी। उन्होंने कहा, '1 अप्रैल से ईंधन की रिटेल कीमतों में मामूली बढ़ोतरी होगी। वर्तमान में ईंधन में सल्फर कंटेंट 50 पार्ट्स प्रति मिलियन होता है, जोकि अब BS-VI ईंधन में यह कम होकर 10 PPM हो जाएगा।' उन्होंने कहा कि हम सुनिश्चित करना चाहते हैं कि ईंधन की कीमतों में बड़ा ईजाफा कर ग्राहकों पर बोझ नहीं डालना चाहते।

BPCL ने रिफाइनरी अपग्रेड पर खर्च किया 7 हजार करोड़ रुपये

उन्होंने कहा कि सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने रिफाइनरीज को अपग्रेड करने के लिए 35 हजार करोड़ रुपये खर्च किया है। इसमें 17 हजार करोड़ रुपये अकेले IOCL ने ही किया है। कुछ समय पहले ही भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (BPCL) ने कहा था कि उसने भी रिफाइनरीज अपग्रेड करने के लिए 7 हजार करोड़ रुपये खर्च किया है। HPCL ने अभी तक इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है।

रिमोट लोकेशन पर नया ईंधन पहुंचाने में हो सकती है देरी

IOCL के चेयरमैन ने कहा कि कुछ रिमोट लोकेशन में, जहां खपत बेहद कम है, वहां नया ईंधन पहुंचाने में थोड़ा समय लगेगा। कंपनी यह भी प्लान कर रही है कि वह BS-IV ईंधन के स्टॉक को पूरी तरह से खत्म करने के बाद नये ईंधन को का इस्तेमाल करे।

ये भी पढ़ें:इनरव्हील क्लब की ओर से महिला सुरक्षा और गरीब बच्चों की मदद को लेकर निकाली गई कार रैली

बढ़ सकती है कीमतें

अंदाजा लगाया जा रहा था कि नई ईंधन प्रणाली लागू हो जाने के बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 70 से 120 पैसे प्रति लीटर तक का इजाफा हो सकता है। लेकिन सिंह ने इसपर कहा कि रिफाइनरीज की जटिलता को ध्यान में रखते हुए ऐसे किसी आंकड़े पर पहुंचना संभव नहीं है। उन्होंने साफ किया कि कस्टमर्स पर इसका ज्यादा बोझ नहीं डाला जाएगा।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story