Top

न्यूजट्रैक-अपना भारत सबसे आगे, पिछले साल ही दे थी सिंधिया की खबर

मध्य प्रदेश के राजनीतिक घटनाक्रम में एक बार फिर आपके पसंदीदा पोर्टल 'न्यूज़ ट्रैक' और साप्ताहिक समाचार पत्र 'अपना भारत' ने बाज़ी मारी। पिछले साल 2019 की तिथि 14 सितंबर को हमने रिपोर्ट की थी कि कमलनाथ सरकार जाने वाली है।

राम केवी

राम केवीBy राम केवी

Published on 11 March 2020 11:50 AM GMT

न्यूजट्रैक-अपना भारत सबसे आगे, पिछले साल ही दे थी सिंधिया की खबर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: न्यूजट्रैक-अपना भारत लगातार खबरों के बाजार में अपनी शीर्ष मौजूदगी साबित करते रहे हैं। पिछले एक दशक से हम इस मिशन के जरिये अपने पाठकों की सेवा में तत्पर रहे हैं।

न्यूजट्रैक-अपना भारत ने सबसे पहले खबरें देने में एक बार फिर बाजी मारी है। हमने पिछले साल 14 सितंबर 2019 को ही रिपोर्ट कर दिया था कि मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार जाने वाली है। इसी तरह महाराष्ट्र में फडणवीस सरकार के शपथ लेने की खबर भी हमने पहले ही ब्रेक की थी। महाराष्ट्र में 'भाजपा सरकार बननी तय' यह खबर भी हमने सबसे पहले दी थी।

इतना ही नहीं, सीएए विरोध के तार विदेशियों से जुड़े हैं ये खबर भी सबसे पहले हमने ही ब्रेक की थी। बात योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने की हो तो इसे भी हमारे मीडिया ने दो दिन पहले ही दे दिया था।

इसके अलावा, नरेंद्र मोदी के राष्ट्रीय राजनीति में आने, पहले प्रचार प्रमुख बनने, फिर प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने और प्रधानमंत्री बनने के बाद आनंदी बेन पटेल के गुजरात के मुख्यमंत्री बनने तक की खबरें हमने 29 नवंबर 2012 को ही लिख दी थीं।

14 सितंबर 2019 को हमने जो खबर की थी उसका शीर्षक था- 'इतिहास दोहराया तो इस बार जायेगी कमलनाथ की सरकार।' जब हमने यह खबर की थी तो उस समय भाजपा सिंधिया को मुख्यमंत्री बनाने तक के लिए तैयार थी, लेकिन उस समय कांग्रेस हाईकमान ने सिंधिया को मना लिया। इसके लिए कमलनाथ को प्रदेश अध्यक्ष पद छोड़ना पड़ा था। लेकिन बात बनी नहीं। आंच सुलगती रही।

इसे भी पढ़ें: इतिहास दोहराया तो इस बार जाएगी मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार

मध्यप्रदेश की सियासत में, जब ताजा उफान शुरू हुआ तो 9 मार्च, 2020 को हमने खबर प्रकाशित की कि 'सिंधिया नहीं माने तो कमलनाथ सरकार गई, शिवराज होंगे मुख्यमंत्री।' आज जब सिंधिया भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर चुके हैं, तब हमारी खबर पर मुहर लग चुकी है।

यह ज़रूर है कि हम ने सिंधिया द्वारा अपने पिता की पार्टी को जीवित करने की खबर की थी। लेकिन हालात के पल-पल बदलने के चलते खबर के नुक्ते नुक्ते ज़रूर सही नहीं हो पाये। पर आपका विश्वसनीय मीडिया समूह इस खबर से बहुत पहले से वाक़िफ़ था। यह सिद्ध हो गया है।

इसे भी पढ़ें: सिंधिया नहीं माने तो कमलनाथ सरकार गई, शिवराज होंगे मुख्यमंत्री

यही नहीं, 'अपना भारत' अख़बार में हमने महाराष्ट्र में फडणवीस सरकार के शपथ लेने की खबर भी पहले प्रकाशित की थी। 22 नवंबर ,2019 को अपना भारत कवर पेज पर हमने लिखा था- 'महाराष्ट्र में भाजपा की सरकार बनना तय।'

'अपना भारत' ने ही सबसे पहले 17 जनवरी, 2020 आपको बताया था कि सीएए के विरोध में दुष्प्रचार और विरोध के तार पीएफआई, आईएसआईएस और विदेशी ताक़तों से जुड़े हुए हैं।

हमने योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने की खबर उनके चयन के दो दिन पहले ही दे दी थी।

नरेंद्र मोदी के राष्ट्रीय राजनीति में आने, पहले प्रचार प्रमुख बनने, फिर प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने और प्रधानमंत्री बनने के बाद आनंदी बेन पटेल के गुजरात की मुख्यमंत्री बनने की खबर हमने 29 नवंबर 2012 को लिखी थी।

इन सबसे आप भरोसा कर सकते हैं कि आपका पसंदीदा पोर्टल 'न्यूज़ ट्रैक 'और साप्ताहिक समाचार पत्र 'अपना भारत' और उसकी पूरी टीम आपकी कसौटी पर कितनी खरी उतर रही है। यही है-Just Journalism!

राम केवी

राम केवी

Next Story