आया चक्रवाती तूफान: तूफान-बारिश के कहर से कांपा देश, तत्काल छुट्टी के आदेश

चक्रवाती तूफान तेजी से करवटें ले रहा है। ऐसे में मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए बताया है कि ये तूफान 25 नवंबर को तमिलनाडु के मामल्लपुरम और पुडुचेरी के कराईकल तटों को पार करेगा। बदलते मौसम के मिजाज को देखकर माना जा रहा है कि यह तूफान तमिलनाडु और पुडुचेरी में भारी तबाही मचा सकता है।

STROME

फोटो-सोशल मीडिया

नई दिल्ली। निवार नाम का चक्रवाती तूफान तेजी से करवटें ले रहा है। ऐसे में मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए बताया है कि ये तूफान 25 नवंबर को तमिलनाडु के मामल्लपुरम और पुडुचेरी के कराईकल तटों को पार करेगा। बदलते मौसम के मिजाज को देखकर माना जा रहा है कि यह तूफान तमिलनाडु और पुडुचेरी में भारी तबाही मचा सकता है। जानकारी देते हुए आईएमडी(India Meteorological Department) ने बताया कि दक्षिण-पश्चिम अरब सागर पर बन रहा कम दबाव का क्षेत्र गहराता जा रहा है। जिसके चलते 24 नवंबर के मौसम के बारे में बताते हैं।

ये भी पढ़ें…मौसम का हाई-अलर्ट: इन राज्यों के लिए जारी हुई चेतावनी, ऐसे रखें खुद को सुरक्षित

जिलों में भारी बारिश होने की संभावना

ऐसे में भारतीय मौसम विभाग के महानिदेशक ने बताया कि 25 नवंबर को तटीय और उत्तरी आंतरिक तमिलनाडु जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है। उत्तरी तमिलनाडु के जिले सबसे अधिक प्रभावित रह सकते हैं।

जानकारी देते हुए तमिलनाडु के कुड्डलोर के आपदा निगरानी अधिकारी ने बताया कि निचले इलाके में रहने वाले लोगों को सरकार द्वारा स्थापित कैंप में जाने को कहा गया है। वहीं ब्लॉक और पंचायत में जोनल टीमों को तैनात किया गया है जो तुफान के बाद सड़कों की सफाई और बिजली के खंभे को सही करेंगे।

हालातों को देखते हुए सरकार ने चक्रवाती तूफान निवार के खतरे को देखते हुए राज्य सरकार ने बुधवार को तमिलनाडु में छुट्टी घोषित कर दी है। लेकिन इस दौरान आवश्यक सेवाएं पर रोक नहीं रहेगी।

strom
फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें… आ रहा भयानक तूफान: इन राज्यों में होगी भारी बारिश, पानी से मचेगी तबाही

तटीय इलाकों में हाई अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने बताया है कि इस दौरान हवा की रफ्तार 120-130 किमी प्रति घंटा होगी, जो बढ़कर 145 किमी प्रति घंटा तक भी पहुंच सकती है। तूफान के मद्देनजर तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटीय इलाकों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

NDRF के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, विभाग की 12 टीमें तैनात की जा चुकी हैं। 18 अन्य टीमों को किसी भी आपात स्थिति के लिए तैयार रखा गया है। उन्होंने बताया कि इन टीमों को प्रभावित क्षेत्रों से स्थानीय लोगों को निकालने में सहायता पहुंचाने समेत राहत और बचाव कार्यों के लिए तैनात किया जाएगा।

इसी कड़ी में कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता वाली राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति ने सोमवार को यहां बैठक की और तूफान के मद्देनजर अनेक उपायों पर विचार करने के साथ ही संबंधित राज्य सरकारों समेत अनेक पक्षों को प्रभावित क्षेत्रों में किसी की जान नहीं जाने देने और सामान्य स्थिति जल्द सही करने के निर्देश दिए हैं।

ये भी पढ़ें…तमिलनाडु: चेन्नई, कांचीपुरम में अगले 24 घंटों में भारी बारिश की चेतावनी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App