राफेल लड़ाकू विमानों पर फ्रांस का बड़ा एलान, कोरोना संकट का नहीं होगा कोई असर

भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन ने कहा कि भारत और फ्रांस के बीच राफेल विमानों के कॉन्ट्रैक्ट के सभी नियमों और शर्तों का भी अभी तक सही तरीके से पालन किया गया है और आगे भी ऐसा ही होगा।

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली। दुनिया भर में कोरोना संकट के बीच फ्रांस ने राफेल लड़ाकू विमानों के सौदे के संबंध में बड़ा एलान किया है। फ्रांस का कहना है कि 36 राफेल लड़ाकू विमानों की आपूर्ति पर कोरोना संकट का कोई असर नहीं होगा। विमानों की आपूर्ति के लिए जो समयसीमा तय की गई थी,उसका सख्ती से पालन किया जाएगा। अभी तक यह माना जा रहा था कि कोरोना संकट के कारण राफेल विमानों की आपूर्ति में देरी हो सकती है।

भारत को विमानों की आपूर्ति समय से

भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन ने कहा कि भारत और फ्रांस के बीच राफेल विमानों के कॉन्ट्रैक्ट के सभी नियमों और शर्तों का भी अभी तक सही तरीके से पालन किया गया है और आगे भी ऐसा ही होगा। हम आगे भी इन लड़ाकू विमानों की भारत को समय से आपूर्ति करेंगे। उन्होंने कहा कि अनुबंध के मुताबिक अप्रैल के अंत में भारतीय वायुसेना को एक नया विमान सौंपा गया है। इससे पहले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पिछले साल 8 अक्टूबर को पहला राफेल लड़ाकू विमान प्राप्त किया था। इस मौके पर उन्होंने पूरे विधि विधान से पूजा भी की थी।

58 हजार करोड़ का है राफेल सौदा

भारत और फ्रांस के बीच मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान सितंबर 2016 में 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद का सौदा हुआ था। करीब 58000 करोड़ के इस सौदे के मुताबिक फ्रांस भारत को 36 अत्याधुनिक राफेल लड़ाकू विमान देगा। हालांकि इस सौदे को लेकर देश में काफी सियासी घमासान मचा था। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस सौदे को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला बोला था।

ये भी पढ़ेंः उद्धव सरकार ने मांगी केरल से मदद: की ये अपील, कोरोना से जंग के लिए इनकी जरूरत

भारतीय वायुसेना की कर रहे मदद

फ्रांस के राजदूत ने कहा कि पहले चार राफेल विमानों को फ्रांस से भारत ले जाने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि हम इस मामले में भारतीय वायुसेना की पूरी मदद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन कयासों में कोई दम नहीं है कि इन विमानों की आपूर्ति में देरी होगी। लेनिन ने कहा कि हम समयसीमा के मुताबिक ही भारत को इन विमानों की आपूर्ति करेंगे।

फ्रांस में कोरोना संकट गहराया

दरअसल फ्रांस में कोरोना संकट गहराने के बाद ऐसा माना जा रहा था कि इन विमानों की आपूर्ति में देरी हो सकती है। फ्रांस कोरोना महामारी से बुरी तरह प्रभावित है। फ्रांस में अभी तक करीब डेढ़ लाख लोग इस वायरस से संक्रमित पाए गए हैं जबकि करीब साढ़े 28000 लोगों की इस वायरस ने जान ले ली है। इस कारण यह अनुमान लगाया जा रहा था कि कोरोना संकट का राफेल विमानों की आपूर्ति पर भी असर पड़ सकता है। इस कयासबाजी का अंत करते हुए फ्रांस के राजदूत ने कहा है कि इन बातों में कोई दम नहीं है और फ्रांस इस मामले में अपने वादे पर पूरी तरह खरा उतरेगा।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।