राज्यसभा चुनाव के लिए बजा बिगुल, जीत के बावजूद बीजेपी रहेगी बहुमत से दूर

देश की संसद के उच्च सदन राज्यसभा के लिए 55 सीटों के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है। चुनाव के लिए आज अधिसूचना जारी कर दी गई है। 13 मार्च को नामांकन, 16 को…

दीपक राज

नई दिल्ली।  देश की संसद के उच्च सदन राज्यसभा के लिए 55 सीटों के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है। चुनाव के लिए आज अधिसूचना जारी कर दी गई है। 13 मार्च को नामांकन, 16 को नामांकन पत्रों की जांच और 18 मार्च को नाम वापस लेने की अंतिम तारीख होगी।

ये भी पढ़ें-महाराष्ट्र बजट 2020: उद्धव सरकार का किसानों को तोहफा, युवाओं के लिए बड़ा एलान

आपको बता दें कि चुनाव कराने के लिए भारत का निर्वाचन आयोग अधिकृत होता है। कुछ मामले में चुनाव नहीं भी होते है।
जैसे की अगर विधायकों की संख्या उम्मीदवारों के अनुपात में हो तो उस स्थिती में चुनाव नहीं कराए जाते हैं और वहां पर उम्मीदवारों को निर्विरोध घोषित कर दिया जाता है।

राज्यसभा के लिए मध्य प्रदेश में राजनीतिक उथल-पुथल

जिसकों लेकर तमाम दल इस जुगत में जूटें हुए हैं कि उन्हें चुनाव का सामना न करना पड़ें और उनकी सीट भी सुरक्षित रहें।
इस रस्साकशी के खेल में तमाम जगहों पर विधायको का मान-मनव्वौल का दौर चल रहा है। तो वहीं मध्य प्रदेश में तो इसकों लेकर सियासी बखेड़ा ही खड़ा हो गया है। जहां कांग्रेस के चार विधायक गायब हैं।

जिसमें एक नो तो कांग्रेस से इस्तीफा देने की भी बात कह दी है। तो वहीं कांग्रेस ने भी अपना दावा मजबुत करते हुए कहा है की भाजपा के तीन विधायक हमारे संपर्क में हैं। इस सियासी खेल का कब पटाक्षेप होगा वो तो भविष्य के गर्त में ही छिपा है लेकिन इतना तो तय है कि बड़े-बड़े का खेल खराब हो सकता है। जिसमें कांग्रेस के प्रमुख नेता दिग्गविजय सिंह व भाजपा के प्रभात झा प्रमुख हैं।

डीएमके ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट

सिर्फ डीएमके को छोड़ कर अभी तक किसी ने भी अपने प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की है। राज्यसभा के लिए सबसे ज्यादा सीट महाराष्ट्र में 7 सीटों के लिए चुनाव होंगें वहीं राज्यसभा के लिए राज्यवार खाली सीटें इस प्रकार हैं।

ये भी पढ़ें-मोदी और योगी सरकार ने एक्सप्रेस-वे से बढ़ाई विकास की रफ्तार

महाराष्ट्र-7 तमिलनाडु-6 पश्चिम बांगाल व बिहार में 5-5 ओड़िसा, आंध्र प्रदेश व गुजरात में 4-4, असम, मध्यप्रदेश व गुजरात में 3-3, तेलांगना, छत्तीसगढ़, हरियाणा व झारखंड में 2-2 और हिमाचल, मणिपुर व मेघालय के लिए 1-1 सीटों के लिए चुनाव होंगें।

इन दिग्गजों का हो रहा है कार्यकाल पूरा

राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश सिंह, महाराष्ट्र के आरपीआई नेता व केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले, एनसीपी प्रमुख शरद पवार , कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा, दिग्विजय सिंह, कुमारी शैलजा, डॉ। संजय सिंह,व पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल व प्रभात झा शामिल है। वहीं अटल बिहारी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहें बिहार के दिग्गज नेता सीपी ठाकुर भी शामिल हैं।

जानिए राज्यसभा में किसके पास है कितनी सीट

इस समय बीजेपी के राज्यसभा में 83, और कांग्रेस के 46 सदस्य हैं। समीकरण के हिसाब से राज्यसभा में बीजेपी की संख्या 83 के आसपास बनी रहेगी और सदन में बहुमत की उसकी आस फिलहाल पूरी नहीं हो पाएगी। वहीं प्रमुख विपक्षी दलों में से एक टीएमसी के पास राज्यसभा में 13 सदस्य हैं। समाजवादी पार्टी- 9, बीजद-7, टीआरएस-6, राजद-4 एनसीपी-4, एआईएडीएमके-11, जेडी़यू-6 राज्यसभा सदस्य हैं