किसी भी ATM या ब्रांच में जमा करें अपना पैसा, आपके खाते में हो जाएगा डिपोजिट

पैसे जमा करने के लिए अब आपको उसी बैंक में जाने की जरूरत नहीं है जिसमें आपका अकाउंट है। अब अन्य बैंक के एटीएम पर लगी कैश डिपॉजिट मशीन में भी आसानी से पैसा जमा कर सकेंगे, चाहे आपका खाता उस बैंक में न हो।

नई दिल्ली: पैसे जमा करने के लिए अब आपको उसी बैंक में जाने की जरूरत नहीं है जिसमें आपका अकाउंट है। अब अन्य बैंक के एटीएम पर लगी कैश डिपॉजिट मशीन में भी आसानी से पैसा जमा कर सकेंगे, चाहे आपका खाता उस बैंक में न हो।

नेशनल पेमेंट कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने इस सर्विस को गुरुवार से शुरू कर दिया है। अभी इस सर्विस में केवल तीन बैंकों को जोड़ा गया है, जिसके कस्टमर्स आपस में किसी भी एटीएम से कैश जमा कर सकेंगे।

जल्द ही किसी एक बैंक के ग्राहक दूसरे बैंक की शाखा या फिर एटीएम में कैश जमा कर सकेंगे। नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने इसके लिए अपनी तरफ से तैयारी शुरू कर दी है। एनपीसीआई ने इसके लिए देश के सभी बड़े बैंकों को इस बारे में प्रस्ताव भेज दिया है।

ये भी पढ़ें…बड़ी खबर: यहां 15 हजार बैंक कर्मचारियों ने छोड़ दी नौकरी, जानें पूरा मामला

इस तरह शुरु होगी सुविधा

एनपीसीआई का कहना है कि उसके नेशनल फाइनेंशियल स्विच के जरिए ऐसा किया जा सकता है। यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) को भी ऐसे ही लागू किया गया था।

इस नई तकनीक को बैंकिंग टेक्नोलॉजी विकास व शोध संस्थान (आईडीबीआरटी) ने तैयार किया है। इस व्यवस्था के लागू होने के बाद कैश परिचालन की लागत में बहुत कमी आ जाएगी, जिसका फायदा पूरे बैंकिंग सिस्टम को मिलेगा।

ग्राहकों के साथ बैंकों को भी है इससे फायदा

मामले से जुड़े एक अन्य अधिकारी का कहना है कि आम खाता धारकों के लिए किसी भी बैंक के एटीएम या ब्रांच में पैसे जमा कराने की सुविधा से समय की बचत होगी। साथ ही पैसे को बैंक तक सुरक्षित ले जाने के झंझट से भी निजात मिलेगा। लेकिन बैंकों के भी इससे फायदा ही होगा। मसलन, हर एटीएम पैसा डालने की सिरदर्दी कम होगी।

क्योंकि एटीएम में जमा होने वाले पैसे को ही ग्राहकों के निकासी के लिए इस्तेमाल किया जा सकेगा। अधिकारी का यह भी कहना है कि इस नए कदम से पैसे के रखरखाव में होने वाले खर्च भी बचेंगे. हालांकि अभी इसे लागू करने की तारीख पर किसी बड़े बैंक ने प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया है। लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि ये योजना इस साल लागू हो सकता है।

ये भी पढ़ें…बैंक ग्राहक को झटका! जमा पैसों को लेकर भेजा गया नोटिस, कारोबारियों में मचा हड़कंप

14 बैंकों के 30000 एटीएम हो सकते हैं अपग्रेड

14 प्रमुख बैंकों के तीस हजार से अधिक एटीएम को पहले चरण में अपग्रेड किया जा सकता है। इसके लिए एटीएम के हार्डवेयर को भी बदलना नहीं पड़ेगा। इस सुविधा के शुरू होने के बाद एसबीआई का कोई ग्राहक एचडीएफसी बैंक की शाखा या फिर एटीएम में जाकर के पैसा जमा कर सकेगा।

फिलहाल इन बैंकों में मिल रही है यह सुविधा

हालांकि अभी यूनियन बैंक, केनरा बैंक, आंध्रा बैंक और साउथ इंडियन बैंक में इस तरह की सुविधा पहले से चल रही है। इसके अलावा घोटाले के कारण सुर्खियों में आया पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक भी अपने ग्राहकों को इस तरह की सुविधा दे रहा था। हालांकि इस सुविधा का लाभ लेने के लिए ग्राहकों को शुल्क भी देना होगा। दस हजार रुपये तक के जमा पर 25 रुपये और दस हजार से अधिक के जमा पर 50 रुपये का भुगतान करना होगा।

ये भी पढ़ें…बैंक में ताला लगा कर कर्मचारियों को किया बाहर, मचा हड़कंप

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App