अब नहीं रुलाएगी प्याज! सस्ता करने के लिए सरकार जल्द उठाएगी बड़ा कदम  

देश के कई जगहों में अब प्याज के दाम 120 रुपये प्रति किलोग्राम के पार पहुंच गए हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरकार कीमतों को पर लगाम लगाने के लिए एमएमटीसी को 300 करोड़ रुपये देने जा रही है। इस पैसे से सरकारी कंपनी एमएमटीसी विदेशों से प्याज खरीदेगी।

Published by SK Gautam Published: November 30, 2019 | 6:09 pm
Modified: November 30, 2019 | 6:21 pm

दिल्ली: प्याज के लगातार बढ़ती कीमतों के कारण लोगों की सब्जियों का स्वाद एकदम फीका हो गया है। प्याज की कीमतों को लेकर केंद्र सरकार की ओर से लगातार उठाए जा रहे कदमों के बाद भी प्याज की कीमत कम होने का नाम नहीं ले रही है।

300 करोड़ रुपये का होगा इन्वेस्ट प्ज्याज के लिए

बता दें कि देश के कई जगहों में अब प्याज के दाम 120 रुपये प्रति किलोग्राम के पार पहुंच गए हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरकार कीमतों को पर लगाम लगाने के लिए एमएमटीसी को 300 करोड़ रुपये देने जा रही है। इस पैसे से सरकारी कंपनी एमएमटीसी विदेशों से प्याज खरीदेगी।

ये भी देखें : ट्रेन में ऐसी हालत में मिले बॉलीवुड के ये दिग्गज एक्टर

बताया जा रहा है कि प्याज की करीब 50 फीसदी फसल बर्बाद हो गई है। पिछले साल खरीफ का प्याज उत्पादन करीब 62 लाख टन था। जो इस साल घट कर 34 लाख टन ही रह गया है।

प्याज को लेकर होगी हाई लेवल की बैठक

उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने कहा है कि प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर बहुत जल्द ही गृ​ह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक होगी।

इसके पहले एक बार बैठक हो चुकी है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री की अध्यक्षता में पांच मंत्रियों की कमेटी बनी थी, जिसकी दूसरी ​मीटिंग जल्द होगी। आपको बता दें कि शुक्रवार को कई मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्याज का भाव सेब से दोगुने दाम में बिक रहा है।

ये भी देखें : नेता जयराम रमेश ने कहा- कांग्रेस ने खड़ा किया शिवसेना को, ये थी वजह

सेब से भी महंगा हो गया प्याज

एक तरफ जहां सेब 60 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव से बिक रहा है। वहीं, प्याज का भाव 100 से 120 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव से बिक रहा है। शुक्रवार को ही प्याज की कीमतों में इजाफा होने के बाद रेस्त्रां से लेकर होटल तक लोगों को अधिक रकम चुकानी पड़ रही है।

इस रिपोर्ट रेस्त्रां मालिकों के हवाले से लिखा गया है कि प्याज की बढ़ती कीमतों की वजह से उनके लिए बिजनेस चलाना मुश्किल हो गया है। परेशान होकर वे बढ़ती कीमतों का बोझ ग्राहकों पर डाल रहे हैं।

अब विदेशों से प्याज मांगने का है प्लान

सरकार मिस्र, तुर्की, हॉलैंड व दूसरें देशों से प्याज मंगाने की कोशिश कर रही है। सरकारी कंपनी एमएमटीसी ने मिस्र से प्याज खरीदने के लिए समझौते किए हैं। मिस्र से 6090 टन प्याज की खेप अगले महीने देश में आने वाली है। इसके अलावा कारोबारियों ने अफगानिस्तान से प्याज मंगाया है, लेकिन इसके बावजूद देशभर में प्याज की कीमत आसमान पर है और आम उपभोक्ताओं के लिए प्याज खरीदना मुश्किल हो गया है।

ये भी देखें : क्या बीजेपी के साथ हैं राज ठाकरे! नहीं ​दिया भाई उद्धव को समर्थन

आखिर क्यों सरकारी स्टोरेज में सड़ गया प्याज

संसद में केंद्रीय उपभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि इस साल बारिश और बाढ़ के चलते प्याज की पैदावार में 26 फीसदी तक गिरावट आई है। उन्होंने यह भी कहा कि 65,000 टन प्याज का बफर स्टॉक था, जिसमें 50 फीसदी प्याज सड़ गया है।

आपको बता दें कि देश के बड़े महानगर- दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई में प्याज के दाम 120 से 130 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गए है। कारोबारियों का कहना है कि अगर मंडियों में प्याज की सप्लाई नहीं बढ़ती है तो कीमतें और बढ़ सकती हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App