बेइमान लोग फैला रहे अफवाह, उद्योगपतियों के खिलाफ नहीं है सरकार-पीएम मोदी

सोमवार को दिल्ली में किर्लोस्कर समूह के शताब्दी समारोह को पीएम नरेन्द्र मोदी ने संबोधित  किया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि किर्लोस्कर समूह की सफलता भारतीय उद्यम और भारतीय उद्योगपतियों की सफलता की भी पहचान है।

Published by suman Published: January 7, 2020 | 10:19 am

नई दिल्ली:  सोमवार को दिल्ली में किर्लोस्कर समूह के शताब्दी समारोह को पीएम नरेन्द्र मोदी ने संबोधित  किया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि किर्लोस्कर समूह की सफलता भारतीय उद्यम और भारतीय उद्योगपतियों की सफलता की भी पहचान है।

यह पढ़ें….निर्भया कांड: दोषियों की फांसी की तारीख का आज हो सकता है ऐलान

*पीएम मोदी ने कहा कि आज के दिन लक्ष्मण राव जी की बायोग्राफी ‘यांत्रिकी यात्रा’ का विमोचन  सौभाग्य की बात है। विश्वास है कि उनकी यात्रा के अहम पड़ाव भारत के सामान्य युवा को इनोवेशन और इंटरप्राइज स्प्रिट के लिए प्रेरित करते रहेंगे। जोखिम उठाने और नये-नये क्षेत्रों में विस्तार करने की भावना आज भी हर भारतीय उद्योगपतियों की पहचान है।

 

* भारत के उद्योगपति देश के विकास के साथ ही अपनी क्षमताओं और सफलताओं के विस्तार के लिए अधीर है। पीएम मोदी ने कहा कि मेरा विश्वास भारत के उद्योग जगत पर है। परिस्थितियों को बदलने और हर चुनौती से पार पाने के लिए जिस इच्छाशक्ति की जरूरत होती है, वह भारतीय उद्योग जगत की रग-रग में है।

*मोदी ने कहा कि जब हम नए साल और नए दशक में प्रवेश कर रहे हैं, तो यह कहने में कोई संकोच नहीं है कि यह दशक भारतीय उद्योगपतियों का होगा। इस दशक में 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था का लक्ष्य तो एक पड़ाव है। हमारे सपने और भी बड़े है। हमारी उम्मीदें और बढ़ी हैं और हमारे लक्ष्य और बड़े है।

उद्योगपतियों को डरने की जरूरत नहीं

मोदी ने कहा- सरकार के प्रति उद्योग जगत में डर और संशय का माहौल होने को गलत दुष्प्रचार कुछ बेईमान और भ्रष्ट लोग कर रहे हैं। उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई होने का मतलब यह नहीं है कि सरकार उद्योगपतियों के खिलाफ है। मोदी ने किर्लोस्कर ब्रदर्स लिमिटेड के 100 साल पूरे होने के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनना महज एक पड़ाव है। ‘‘यह लक्ष्य महज एक पड़ाव है। हमारे सपने और बड़े हैं, हमारी उम्मीदें और बड़ी हैं, हमारे लक्ष्य और बड़े हैं।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि इसे लेकर कुछ लोग दुष्प्रचार कर रहे हैं कि सरकार उद्योगपतियों के खिलाफ है। मोदी ने कहा कि उनकी सरकार में उद्योगपतियों की समस्याओं को सुना गया है और उन्हें दूर भी किया गया है। उन्होंने उद्योगपतियों के डरे होने की बात को दुष्प्रचार बताते हुए कहा, ‘‘इनदिनों दिवाला एवं ऋणशोधन संहिता (आईबीसी) की खूब चर्चा होती है। यह कानून सिर्फ डूबा पैसा वसूल करने का कानून नहीं होकर ईमानदार उद्यमियों का भविष्य बचाने का भी कानून है। इसने इंस्पेक्टर राज को खत्म किया है।

यह पढ़ें….नहीं कम होगी नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत निर्धारित जुर्माने की राशि-केंद्र

 

सरकार बेहतर माहौल देने को प्रयासरत

2014 के बाद से देश में ये निरंतर प्रयास हुआ है कि भारत के उद्योग जगत को विस्तार के लिए किसी रूकावट का सामना न करना पड़े। इस दौरान हर फैसले और हर कार्रवाई के पीछे एक ही सोच रही है कि भारत में काम करने वाले हर उद्योगपति के सामने रूकावट दूर हो। उसके लिए बिजनेस का बेहतर माहौल बने। उन्होंने उद्योगपतियों को कहा, ‘‘आप कारोबार करने के लिये देश के किसी भी कोने में जाना चाहें, सरकार हर समय आपके साथ खड़ी रहेगी।’’ मोदी ने सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए डिजिटल लेन-देन प्लेटफॉर्म यूपीआई और उजाला योजना का जिक्र किया। उन्होंने कहा सिर्फ तीन साल में यूपीआई ने कई उपलब्धियां हासिल की है। वित्त वर्ष 2018-19 में यूपीआई के जरिये करीब नौ लाख करोड़ रुपये का लेनदेन हुआ था। इस वित्त वर्ष में दिसंबर तक ही यह आंकड़ा लगभग 15 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच चुका है। मोदी ने कहा कि हमने बिजली की बचत करने, कार्बन उत्सर्जन कम करने तथा लोगों पर इसका वित्तीय बोझ घटाने के लिये उजाला योजना तैयार की। उन्होंने कहा, ‘‘कल ही उजाला योजना के पांच साल पूरे हुए हैं। इस योजना के तहत अब तक 36 करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब बांटे जा चुके हैं। इसके साथ ही अब तक एक करोड़ से अधिक एलईडी स्ट्रीट लाइट लगाये गये हैं। इन दोनों प्रयासों से 5,500 करोड़ किलोवाट घंटे बिजली की बचत हर साल हो रही है। इससे हर साल बिजली खर्च में हजारों करोड़ रुपये की बचत हो रही है।’’

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App