मन की बात में बोले PM मोदी, कृषि कानून से किसानों को उनके अधिकार मिले

प्रधानमंत्री ने कहा कि काफी विचार-विमर्श के बाद भारत की संसद ने कृषि सुधारों को कानूनी स्वरुप दिया है। इन सुधारों से न सिर्फ किसानों के अनेक बंधन समाप्त हुए हैं, बल्कि उन्हें नए अधिकार भी मिले हैं और नए अवसर मिले हैं।

Published by Roshni Khan Published: November 29, 2020 | 12:03 pm
Modified: November 29, 2020 | 4:34 pm
modi

मन की बात में बोले PM मोदी, कृषि कानून से किसानों को उनके अधिकार मिले (Photo by social media)

नई दिल्ली: देश के कई हिस्सों में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि,काफी विचार विमर्श के बाद भारत की संसद ने कृषि सुधारों को कानूनी स्वरूप दिया। इन सुधारों से न सिर्फ किसानों के अनेक बंधन समाप्त हुए हैं। बल्कि उन्हें नये अधिकार भी मिले हैं, नये अवसर भी मिले हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 71वीं बार मन की बात करते हुए यह बातें कहीं। मोदी का यह मन की बात 2.0 का 18वां संस्करण रहा । इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अलग-अलग मुद्दों पर अपनी बात रखते हैं और देश की जनता से रूबरू होते हैं।

ये भी पढ़ें:मन की बात में बोले पीएम मोदी- देवी अन्नापूर्णा की मूर्ति भारत वापस आई, कनाडा सरकार का अभार

कानून में एक और बहुत बड़ी बात है, इस कानून में ये प्रावधान किया गया है

प्रधानमंत्री ने कहा कि काफी विचार-विमर्श के बाद भारत की संसद ने कृषि सुधारों को कानूनी स्वरुप दिया है। इन सुधारों से न सिर्फ किसानों के अनेक बंधन समाप्त हुए हैं, बल्कि उन्हें नए अधिकार भी मिले हैं और नए अवसर मिले हैं। मोदी ने कहा कि कानून में एक और बहुत बड़ी बात है, इस कानून में ये प्रावधान किया गया है कि क्षेत्र के एसडीएम को एक महीने के भीतर ही किसान की शिकायत का निपटारा करना होगा। मोदी ने कहा, अब जब ऐसे कानून की ताकत हमारे किसान भाई के पास थी तो उनकी समस्या का समाधान तो होना ही था, उन्होंने शिकायत की और चंद ही दिन में उनका बकाया चुका दिया गया।

farmer
farmer (Photo by social media)

मोदी ने कहा कि आज के मन की बात की शुरुआत मैं खुशखबरी से करता हूं। हर भारतीय को यह जानकर गर्व होगा, कि देवी अन्नपूर्णा की एक बहुत पुरानी प्रतिमा कनाडा से वापस भारत आ रही है। यह प्रतिमा लगभग 100 साल पहले 1913 के करीब वाराणसी के एक मंदिर से चुराकर देश से बाहर भेज दी गई थी। इसके लिए मैं कनाडा सरकार और इस काम में लगे सभी लोगों का आभार व्यक्त करता हूं।

आज के मन की बात की शुरुआत मैं खुशखबरी से करता हूं

मोदी ने कहा कि आज के मन की बात की शुरुआत मैं खुशखबरी से करता हूं। हर भारतीय को यह जानकर गर्व होगा कि देवी अन्नपूर्णा की एक बहुत पुरानी प्रतिमा कनाडा से वापस भारत आ रही है। यह प्रतिमा लगभग 100 साल पहले 1913 के करीब वाराणसी के एक मंदिर से चुराकर देश से बाहर भेज दी गई थी। उन्होंने कहा कि कल्चर बड़ा काम आता है, ये इससे निपटने में अहम भूमिका निभाता है। कल्चर एक इमोशनल रिचार्ज की तरह काम करता है।

ये भी पढ़ें:मिर्जापुर: संदिग्ध हालत में पुलिस कांस्टेबल की मौत, इलाके में सनसनी

आज देश में कई म्यूजियम और लाइब्रेरी अपने कलेक्शन को पूरी तरह से डिजिटल बनाने पर काम कर रही हैं। अब आप घर बैठे दिल्ली के नेशनल म्यूजियम गैलरी का टूर कर पाएंगे। दिल्ली में हमारे राष्ट्रीय संग्रहालय ने इस संबंध में कुछ सराहनीय प्रयास किए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि एक ओर सांस्कृतिक धरोहरों को टेक्नोलॉजी के माध्यम से अधिक-से-अधिक लोगों तक पहुंचाना अहम है। वहीं इन धरोहरों के संरक्षण के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग भी महत्वपूर्ण है।

रिपोर्ट- श्रीधर अग्निहोत्री

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App