सामूहिक नमाज पढ़ने से रोकने गई पुलिस टीम पर हमला, 27 गिरफ्तार

महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या 9000 के पार हो गई है। प्रदेश और केंद्र सरकार कोरोना से लड़ने में जुटी है, लेकिन फिर भी कुछ लोग लॉकडाउन तोड़ने में लगे हुए हैं। एक बार फिर पुलिस टीम पर हमले का मामला सामना आया है।

मुंबई: महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या 9000 के पार हो गई है। प्रदेश और केंद्र सरकार कोरोना से लड़ने में जुटी है, लेकिन फिर भी कुछ लोग लॉकडाउन तोड़ने में लगे हुए हैं। एक बार फिर पुलिस टीम पर हमले का मामला सामना आया है। अब महाराष्ट्र के औरंगाबाद में सामूहिक नमाज में शामिल होने जा रहे लोगों ने पुलिस पर हमला किया है।

सामूहिक नमाज में शामिल होने जा रहे लोगों को पुलिस टीम ने रोकने की कोशशिकी तो उन्होंने पथराव शुरू कर दिया। इसमें तीन पुलिसवाले घायल हुए हैं। अब इस मामले में 27 लोगों को हिरासत में लिया गया है। तनाव को देखते हुए इलाके में कर्फ्यू लगाया दिया गया है।

यह भी पढ़ें…भारत ने ADB से 1.5 अरब डॉलर का लिया कर्ज, कोरोना के खिलाफ तेज होगी जंग

मिली जानकारी के मुताबिक संभाजी मार्ग स्थित एक मस्जिद में करीब 100 लोग नमाज पढ़ने जा रहे थे। पुलिस ने पहले उन्हें रोकने की कोशिश की और लॉकडाउन का हवाला देकर अपने-अपने घर लौटने की अपील की। इस दौरान कुछ लोग भड़क गए और पथराव शुरु कर दिया। इस हमले में घायल पुलिसवालों को जिले के घाटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें एक अधिकारी और दो कांस्टेबल हैं।

भीड़ ने अचानक से पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया और सूचना मिलने पर जब पुलिस की टीम घटना की जांच करने पहुंचा तो लोग पत्थर फेंकने लगे। इस संबंध में 27 लोगों को हिरासत में लिया गया। इस मामले में लॉकडाउन तोड़ने, पुलिस के काम में बाधा डालने, पथराव करने व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस की जांच जारी है।

यह भी पढ़ें…बैंक कर्मियों के फोन पर आया कोरोना पॉजिटिव होने का अलर्ट, मचा हड़कंप

तो वहीं गुजरात के सूरत में भी लॉकडाउन लागू करा रहे सुरक्षाकर्मियों पर कुछ लोगों ने हमला बोल दिया। सूरत के पुलिस उपायुक्त आर पी बरोत ने कहा कि हमें जब पता चला कि इलाके में लोग घूम रहे हैं और बंद के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं तो हमने वहां एक पीसीआर वैन भेजी। पुलिस ने जब लोगों से घर के भीतर रहने को कहा तो कुछ लोग भड़क गए और उन्होंने पुलिसकर्मियों पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए।

इससे अब पश्चिम बंगाल के हावड़ा स्थित एक बाजार में लॉकडाउन का पालन करा रहे पुलिसकर्मियों पर भीड़ ने हमला बोल दिया। इस दौरान भीड़ में शामिल अराजक तत्वों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया और बोतलें भी फेंकीं। उन्होंने पुलिस की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की है। इस घटना में दो पुलिस कर्मी घायल हो गए हैं।

यह भी पढ़ें…खऱाब निकली चाइनीज रैपिड टेस्टिंग किट, ICMR ने राज्यों से कहा- लौटा दो

मिली जानकारी के मुताबिक हावड़ा में टिकियापारा के एक बाजार में काफी भारी भीड़ जमा हुई थी। इस दौरान वहां पर लॉकडाउन का खुलेतौर पर धज्जियां उड़ाई जा रही थीं। इसकी सूचना पर पुलिस वहां पहुंची और लोगों से लॉकडाउन का पालन करने की अपील की। इस दौरान भीड़ अचानक पुलिस पर पथराव करने लगी और उनके ऊपर बोतलें भी फेंकीं। इसके साथ ही भीड़ ने वहां खड़ी पुलिस की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की।